अहमदाबाद, जेएनएन। गुजरात सरकार ने स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की हेलीकॉप्टर सेवा स्थगित कर दी है। हेलीकॉप्टर की आवाज से सफारी पार्क के प्राणियों में दहशत एवं उछल कूद के कारण इसे बंद कर दिया गया है। हेलीपैड अन्यत्र ले जाया जायेगा। उसके बाद हेलीकॉप्टर सेवा पर्यटकों के लिए बहाल की जायेगी।

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से भारत ही नहीं अपितु विश्व के पर्यटक आकर्षित हुए है। दुनिया के पर्यटन स्थलों में इसका विशेष मुकाम है। प्रतिदिन हजारों की तादाद में पर्यटक यहां आते है। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के एरियल व्यू के निदर्शन के लिए यहां हेलीकॉप्टर की सेवा शुरु की गयी है। परन्तु सेवा बुधवार 9 अक्टूबर से बंद कर दी गयी है।

इसके कारणों का उल्लेख करते हुए सचिव राजीव गुप्ता ने बताया कि यहां एक सफारी पार्क का निर्माण किया गया है। बड़ी तादाद में पर्यटक इससे भी आकर्षित हैं। यहां हेलीकॉप्टर की लैंडिंग एवं उड़ान के कर्कश ध्वनि के कारण जानवरों में अफरा-तफरी फैल जाती है। वे आतंकित हो जाते है। इसलिए सफारी पार्क के निकट बने हेलीपैड का निर्माण बहुत ही जल्दी कर दिया जायेगा। सफारी पार्क के प्राणियों की सुरक्षा के मद्देनजर ही इसे बंद कर दिया गया है। संभव है एक सप्ताह में ही नया हेलीपैड बनकर तैयार हो जायेगा। उसके बाद ही हेलीकोप्टर की सुविधा बहाल हो पायेगी।

गौरतलब है कि गुजरात के नर्मदा जिले के केवडिया में सरदार सरोवर बांध के पास लोह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल की याद में स्टैच्यू आफ यूनिटी बनाया गया है। सरदार पटेल की 182 मीटर की यह प्रतिमा विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा है। हर कोई व्यक्ति दुनिया का सबसे बड़ा स्टैच्यू (स्टैच्यू ऑफ यूनिटी) को पास से देखना चाहता है। इसलिए गुजरात सरकार ने स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को पास से देखने के लिए हेलिकॉप्टर की व्यवस्था की है।  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस