वडोदरा, एएनआइ। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने रविवार को भारत एकता मंच की रैली को संबोधित करते हुए कहा कि पाकिस्तान को आतंकवाद का समर्थन करने से रोकने की चेतावनी दी और कहा कि पीओके को खोने के लिए तैयार हो जाए। अनुच्छेद 370 को रद्द कर दिया गया है। अब, पाकिस्तान के  कब्जे वाला कश्मीर (पीओके) भी हमारा है। इसलिए पाकिस्तान को पीओके को खोने के लिए तैयार रहना चाहिए।  

 अखंड भारत के सपने को पूरा करने के लिए, हम पीओके के लिए आगे बढऩे के लिए तैयार हैं ... पाकिस्तान को आतंकवाद का समर्थन करना बंद कर देना चाहिए ... भारत इसे बर्दाश्त नहीं करेगा। गौरतलब है कि अगस्त में, संसद ने धारा 370 को रद्द कर दिया था, जिसने जम्मू-कश्मीर को विशेष प्रावधान दिए थे और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों- जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में विभाजित किया था। मुख्यमंत्री ने पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान को 1971 के युद्ध के बारे में भी याद दिलाया जिसमें बांग्लादेश आजाद हुआ था।

आइये जानें क्‍या है पीओके 

1. पीओके को प्रशासनिक रूप से दो हिस्सों में बांटा गया है, जिन्हें सरकारी भाषा में आज़ाद जम्मू-ओ-कश्मीर और गिलगित-बल्तिस्तान कहते हैं. पाकिस्तान में आज़ाद जम्मू-और-कश्मीर को केवल आज़ाद कश्मीर भी कहते हैं.

2. पाक अधिकृत कश्मीर का प्रमुख यहीं का राष्ट्रपति होता है जबकि प्रधानमंत्री मुख्य कार्यकारी अधिकारी होता हैं जो कि मंत्रियों की एक परिषद द्वारा समर्थित होता हैं।  

भारत और पाकिस्तान की अर्थव्यवस्थाओं की तुलना

3. पाक अधिकृत कश्मीर अपने स्वशासन संबंधी विधानसभा का दावा करता है लेकिन यह तथ्य किसी से छिपा नहीं है कि यह पाकिस्तान के नियंत्रण में काम करता है।  

4. पाक-अधिकृत कश्मीर, भारत के जम्मू व कश्मीर राज्य का वह हिस्सा है जिस पर पाकिस्तान ने 1947 में हमला कर अधिकार कर लिया था।  

5. पाक अधिकृत कश्मीर मूल कश्मीर का वह भाग है, जिसकी सीमाएं पाकिस्तानी पंजाब, उत्तर पश्चिम में अफ़गानिस्तान के वाखान गलियारे से, चीन के ज़िन्जियांग क्षेत्र से और भारतीय कश्मीर से पूर्व में लगती हैं।  

6. यदि गिलगित-बल्तिस्तान को हटा दिया जाये तो आज़ाद कश्मीर का क्षेत्रफल 13,300 वर्ग किलोमीटर (भारतीय कश्मीर का लगभग 3 गुना) पर फैला है और इसकी आबादी लगभग 40 लाख है।  

7. आज़ाद कश्मीर की राजधानी मुज़फ़्फ़राबाद है और इसमें 8 ज़िले, 19 तहसीलीं और 182 संघीय काउन्सिल हैं।  

8. पाक अधिकृत कश्मीर के दक्षिणी हिस्से में 8 जिले हैं: मीरपुर, भिम्बर, कोटली, मुज़फ़्फ़रआबाद, बाग़, नीलम, रावला कोट और सुधनती हैं।  

9. पाक अधिकृत कश्मीर के हुन्ज़ा-गिलगित के एक भाग, रक्सम एवं बाल्टिस्तान की शक्स्गम घाटी क्षेत्र को, पाकिस्तान द्वारा 1963 में चीन को सौंप दिया गया था। इस क्षेत्र को सीडेड एरिया या ट्रांस काराकोरम ट्रैक्ट कहते हैं।  

10. आजाद कश्मीर के लोग मुख्य रूप से खेती करते हैं तथा मक्का, गेहूं, वानिकी, और पशुधन आय का मुख्य स्रोत हैं।  

11. यहां पर निम्न श्रेणी के कोयला भंडार, चाक, बॉक्साइट के भंडार भी हैं, स्थानीय घरेलू उद्योगों में उत्कीर्ण लकड़ी की वस्तुओं को बनाना, वस्त्र और कालीन का उत्पादन किया जाता हैं।  

12. इस क्षेत्र में उत्पादित कृषि उत्पाद में मशरूम, शहद, अखरोट, सेब, चेरी, औषधीय जड़ी बूटियों और पौधों, राल, देवदार, कैल, चीर, प्राथमिकी, मेपल और जलाने वाली लकड़ी शामिल हैं।  

लाखों का कारोबारी बना भिखारी, पढ़ें एक युवक की राजा से रंक बनने की कहानी

मुस्लिम युवकों ने कायम की मिसाल, वैदिक रीति से हिंदू अंकल का किया अंतिम संस्कार

 

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप