Move to Jagran APP

विपक्षी दलों ने कई बार किया संसदीय प्रणाली का उल्लंघन, मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने विपक्ष पर बोला हमला

मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने संसद भवन के उद्घाटन को लेकर विपक्ष के विरोध पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने विपक्षी दलों के विरोध को संवैधानिक मूल्‍यों पर हमला करार देते हुए कहा कि विपक्षी दलों का विरोध लोकतांत्रिक मूल्यों और संवैधानिक मान्यताओं पर हमला है। फाइल फोटो।

By Jagran NewsEdited By: Sonu GuptaPublished: Fri, 26 May 2023 12:28 AM (IST)Updated: Fri, 26 May 2023 12:28 AM (IST)
विपक्षी दलों ने कई बार किया संसदीय प्रणाली का उल्लंघन: मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल

अहमदाबाद, जेएनएन। मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने संसद भवन के उद्घाटन को लेकर विपक्ष के विरोध पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने विपक्षी दलों के विरोध को संवैधानिक मूल्‍यों पर हमला करार देते हुए कहा कि विपक्षी दलों का विरोध लोकतांत्रिक मूल्यों और संवैधानिक मान्यताओं पर हमला है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में संसद एक पवित्र संस्था है।

विपक्षी दलों ने कई बार किया नियमों का उल्लंघन- सीएम पटेल

उन्होंने कहा कि संसद देश की नीतियां तय करती है और इसके फैसले से लोगों पर अनुकूल प्रभाव पड़ता है। सीएम पटेल ने कहा कि पिछले नौ वर्षों के दौरान विपक्षी दलों ने कई बार संसदीय प्रणाली और नियमों का उल्लंघन किया है।

सीएम ने विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि संसद में बहिष्कार का यह निर्णय लोकतांत्रिक प्रक्रिया का घोर अपमान है। उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों ने इससे पहले जीएसटी के विशेष सत्र का भी बहिष्कार किया था।

विपक्षी दलों पर लगाया राष्ट्र सेवकों के आपमान करने का आरोप

उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों ने अनुच्छेद 356 का बार-बार दुरूपयोग किया है और नागरिकों के स्वतंत्रता का हनन किया है। उन्होंने आगे कहा कि विपक्षी दलों ने महात्मा गांधी, सरदार पटेल, बाबा साहेब अंबेडकर जैसे कई राष्ट्र सेवकों का भी अपमान किया है।

मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने कहा कि आजादी के अमृत काल में जब सभी आगे बढ़ रहे हैं इस दौरान विपक्षी दलों द्वारा देश के 140 करोड़ नागरिकों का अपमान किया जा रहा है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.