अहमदाबाद, जेएनएन। गुजरात के छोटाउदयपुर में अंधविश्वास में एक महिला का सिर धड़ से अलग करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपित को गिरफ्तार किया है।

जानकारी के मुताबिक, गुजरात आदिवासी इलाके के भोरदा गांव में गत 26 नवंबर को अंधविश्वास में एक महिला की कुछ लोगों ने गला काटकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को दफना दिया। बुधवार शाम को घटना का खुलासा हुआ।

रवापुर थाने के पुलिस इंस्पेक्टर एचपी गामीत ने गुरुवार को बताया कि मृतका की पहचान रसलीबेन तेरसिंगभाई राठवा के रूप में हुई। उसका शव बरामद कर लिया गया है। भोरदा गांव निवासी रसलीबेन 26 नवंबर की रात घर में सो रही थी। तभी रात 10 बजे उसी के रिश्तेदारों ने उसके शरीर में चुडैल होने की शंका में तलवार से उसका सिर धड़ से अलग कर दिया। आरोपितों ने रातों-रात महिला के शव को गांव के निकट दफना दिया और पुलिस में शिकायत करने पर महिला के पति को जान से मारने की धमकी दी थी।

पुलिस इंस्पेक्टर एचपी गामीत ने बताया कि महिला के पति की शिकायत के बाद आरोपित छंगन मालिसंह राठवा को गिरफ्तार कर लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। घटना में शामिल कई लोग फरार हो गए हैं।

गौरतलब है कि सूरत में गत 14 नवंबर के दिन अंधविश्वास में 50 वर्षीय बुजुर्ग की उसकी ही पत्नी, तीन बेटे, पुत्री और बहू ने जान ले ली थी। शरीर में से भूत निकालने के लिए पूरी रात उसके परिवार के सभी सदस्य बुजुर्ग की छाती पर कूदते रहे, जिसमें उसकी मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने बुजुर्ग की हत्या के आरोप में उसके परिजनों को गिरफ्तार किया था। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021