ठाणे, प्रेट्र। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के कार्यकर्ताओं ने रविवार रात खुलेआम गुंडागर्दी करते हुए मुंबई और उससे सटे वसई के कुछ कारोबारी प्रतिष्ठानों में लगे गुजराती विज्ञापन बोर्डों को उखाड़ डाला। यह घटना मनसे प्रमुख राज ठाकरे के उस बयान के बाद हुई, जिसमें उन्होंने 2019 के चुनाव में 'मोदीमुक्त भारत' के लिए विपक्षी एकता का आह्वान किया था।

पुलिस ने बताया कि ठाकरे की रैली के बाद कुछ मनसे कार्यकर्ताओं ने वसई में मुंबई-अहमदनगर हाईवे पर कुछ ढाबों पर हमला किया और गुजराती में लिखे साइन बोर्ड तोड़ दिए। इसके बाद सोमवार को उन्होंने मुंबई में भी कुछ प्रतिष्ठानों पर हमला करके गुजराती के बैनर तोड़ दिए। कांडीवली पुलिस ने इस सिलसिले में 10 मनसे कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

ठाकरे ने मध्य मुंबई के शिवाजी पार्क में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के झूठे वादों से परेशान है। सभी विपक्षी पार्टियों को भाजपा नेतृत्व वाली राजग सरकार से छुटकारा पाने और 'मोदीमुक्त भारत' भारत के लिए एक साथ आना चाहिए।

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस