अहमदाबाद, जेएनएन। गुजरात के वापी में वित्तीय सेवा प्रदान करने वाली कंपनी आइआइएफएल की शाखा में कर्मचारियों को बंधक बनाकर 10 करोड़ रुपये के सोना-चांदी व नगदी लूटने का मामला सामने आया है। छह नकाबपोश लुटेरे केवल 10 मिनट में 10 करोड़ लूटकर फरार हो गए। घटना के बाद वापी-वलसाड पुलिस का काफिला मौके पर पहुंचा। पूरे शहर में नाकाबंदी कर दी गई है। उधर, गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जाड़ेजा ने मामले की गंभीरता के मद्देनजर वापी, सूरत और वलसाड़ पुलिस को जरूरी आदेश दिए हैं।

जानकारी के मुताबिक, वापी के चाणोद क्षेत्र में स्थित चंद्रलोक अपाटमेंट में गुरुवार सुबह 10 बजे यह घटना हुई। पहली मंजिल पर स्थित आइआइएफएल गोल्ड लोन बैंक में छह नकाबपोश लुटेरे रिवॉल्वर व हथियार लेकर घुस गए। लुटेरों ने फाइनेंस कंपनी के कमर्चारियों को रस्सी से बांध दिया। इसके बाद केवल 10 मिनट में आठ करोड़ रुपये का सोना व दो करोड़ रुपये की नगदी लूटकर फरार हो गए। इधर, घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस के साथ उच्च अधिकारियों का काफिला आ पहुंचा। वापी पुलिस ने पूरे शहर में नाकाबंदी कर दी है। वापी एसपी के मुताबिक, लुटेरे जैकेट पहनकर आए थे और हिंदी में बोल रहे थे। घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज खंखाले जा रहे हैं। आरोपित राज्यभर के होने का प्राथमिक अनुमान लगाया जा रहा है।

गुजरात के गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने बताया कि पुलिस ने वापी से सटे महाराष्ट्र बॉर्डर पुलिस को लूट के बारे में जानकारी दी है। महाराष्ट्र पुलिस को भी अलर्ट कर दिया गया।

गौरतलब है कि गुजरात में बीती रात से अभी तक इसी प्रकार लूट की कुल तीन घटना हो चुकी हैं। बीती रात में अहमदाबाद में भी ज्वेलर्स के शो रूप में घुसे दो बदमाशों ने फायरिंग कर चार लाख रुपये लूट कर फरार हो गए हैं। पुलिस जगह-जगह नाकाबंदी कर आरोपितों की तलाश में जुटी है। दो साल पहले दमण में भी इसी प्रकार से नकाबपोशों द्वारा करोड़ों रुपयों की लूट को अंजाम दिया गया था, जिसमें आरोपित एक साल बाद बिहार द्वारा पकड़े गए थे।  

गुजरात की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस