Move to Jagran APP

Lok Sabha Election: गुजरात के दाहोद में बूथ कैप्चरिंग कर इंटरनेट मीडिया पर किया लाइव, पुलिस ने दो लोगों पर की कार्रवाई

गुजरात के दाहोद लोकसभा क्षेत्र के परथमपुर मतदान केंद्र पर बूथ कैप्चरिंग कर मतदान को इंटरनेट मीडिया पर लाइव करने के मामले में कांग्रेस ने चुनाव आयोग से शिकायत की है। पुलिस वीडियो में नजर आ रहे दो युवकों से पूछताछ कर रही है। दाहोद से कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. प्रभा तावियाड ने जिला पीठासीन अधिकारी के समक्ष शिकायत दर्ज कराई है

By Jagran News Edited By: Sonu Gupta Published: Wed, 08 May 2024 08:30 PM (IST)Updated: Wed, 08 May 2024 08:30 PM (IST)
गुजरात के दाहोद में बूथ कैप्चरिंग कर इंटरनेट मीडिया पर किया लाइव।

राज्य ब्यूरो, अहमदाबाद। गुजरात के दाहोद लोकसभा क्षेत्र के परथमपुर मतदान केंद्र पर बूथ कैप्चरिंग कर मतदान को इंटरनेट मीडिया पर लाइव करने के मामले में कांग्रेस ने चुनाव आयोग से शिकायत की है। आरोपित भाजपा नेता का पुत्र है। पुलिस वीडियो में नजर आ रहे दो युवकों से पूछताछ कर रही है।

मतदानकर्मियों को धमकी देकर किया फर्जी मतदान

दाहोद से कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. प्रभा तावियाड ने जिला पीठासीन अधिकारी के समक्ष शिकायत दर्ज कराई है कि मंगलवार को चुनाव के दौरान परथमपुर गांव के मतदान केंद्र संख्या 220 पर आए विजय भाभोर और उसके साथियों ने मतदानकर्मियों को धमकी देकर ईवीएम पर जाकर फर्जी मतदान किया। विजय ने मतदान करते हुए फेसबुक लाइव किया। इसका वीडियो प्रसारित होने के बाद उसने अपने अकाउंट से वीडियो को डिलीट कर दिया। वह भाजपा अध्यक्ष रमेश भाभोर का पुत्र है।

कांग्रेस ने की पुनर्मतदान की मांग

वीडियो में उसके साथ दो तीन अन्य युवक भी नजर आ रहे हैं। युवकों से उसे कहते हुए सुना जा सकता है कि तुम वहां हस्ताक्षर करो, मैं वोट करता हूं। इस दौरान वह यह भी कह रहा है कि यहां तो भाजपा की ही चलेगी। दाहोद अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित सीट है।

दाहोद से जसवंत भाभोर भाजपा प्रत्याशी हैं, जबकि कांग्रेस ने प्रभा तावियाड को उम्मीदवार बनाया है। तावियाड की शिकायत के बाद पुलिस वीडियो में नजर आ रहे दो युवकों की धरपकड़ कर पूछताछ कर रही है। कांग्रेस प्रत्याशी ने मतदान केंद्र संख्या 220 का चुनाव रद कर पुनर्मतदान की मांग की।

यह भी पढ़ेंः Lok Sabha Election 2024: 'पैसे देकर वोट खरीद रही भाजपा', हुगली में ममता बनर्जी ने लगाया बड़ा आरोप


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.