अहमदाबाद, जेएनएन। कांग्रेस के भारत बंद का समर्थन कर पाटीदार नेता हार्दिक पटेल अब भाजपा के सीधे निशाने पर आ गए हैं। अब तक भाजपा के आरोपों को राजनीतिक रूप से देखा जा रहा था, लेकिन अब भाजपा हार्दिक पर और हमलावर हो गई है। गुजरात भाजपा अध्यक्ष जीतूभाई वाघाणी ने हार्दिक पर पाटीदार समाज के साथ छल करके कांग्रेस का मोहरा बनने का आरोप लगाया है। आरक्षण व किसानों के कर्ज के साथ हार्दिक अब समान अधिकार की मांग भी करने लगे हैं।

आरक्षण व किसानों की कर्जमाफी की मांग को लेकर बीते 17 दिनों से आमरण अनशन कर रहे पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के संयोजक हार्दिक पटल ने कांग्रेस सहित विविध दलों के भारत का समर्थन करते हुए कहा है कि जनता के कष्ट से बेखबर आत्ममुग्ध मोदी सरकार को जगाने के लिए है भारत बंद। गुजरात में साढ़े तीन साल से चल रहा आरक्षण आंदोलन अब रोचक मोड़ पर आ गया है। सरकार, आंदोलन, विपक्ष व कानुनी पहलू साफ हो चुका है इसलिए अब आंदोलन भी नए रंग अख्तियार कर रहा है।

हार्दिक ने आंदोलन के इस दूसरे चरण में पहले किसानों की कर्ज माफी शामिल की। अब एससी एसटी एक्ट एट्रोसिटी को लेकर देशभर में सवर्णों के आक्रोश को देखते हुए समान अधिकार की बात भी उठाने लगे हैं। 25 अगस्त से आमरण अनशन कर रहे हार्दिक पटेल तीन चार दिन अस्पताल में रहने के बाद फिर से अपने ग्रीनवुड स्थित आवास पर उपवास पर बैठ गए हैं।
सोमवार को अहमदाबाद के पुलिस आयुक्त जयराज सिंह राठौड के साथ हार्दिक की कहासुनी हुई। पाटीदार समिति के प्रवक्ता निखिल सवाणी का आरोप है कि राठौड ने हार्दिक के साथ बदसलूकी की तथा हार्दिक को खत्म करने की भी धमकी दी। इस आशय की शिकायत अहमदाबाद पुलिस आयुक्त एके सिंह तथा मानवाधिकार आयोग को करने के बाद जांच के आदेश दिए गए हैं।

भाजपा ने हार्दिक के उपवास को कांग्रेस के समर्थन से चल रही नाटकबाजी बताते हुए कहा है कि अब हार्दिक खोई हुई प्रतिष्ठा को हासिल करने के लिए कांग्रेस का मोहरा बनकर पाटीदार समाज के साथ ही छल कर रहे हैं।

प्रदेश अध्यक्ष जीतूभाई वाघाणी का कहना है कि हार्दिक ने पाटीदार संस्थाओं के प्रमुखों की अपील को खारिज कर उनका अपमान किया है, सरकार व चिकित्सकों की सलाह को भी नकार कर मनमानी कर रहा है। उपवास अब महज समाज की सहानुभूति लेने तथा गुजरात की शांति व्यवस्था को बिगाडने का प्रयास भर है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार व गुजरात की रूपाणी सरकार ने किसानों के हित में कई काम किए हैं। गुजरात में कृषि के लिए 30 हजार करोड़ का बजट रखा गया है। किसानों को जीरो प्रतिशत ब्याज पर ऋण दिया जाता है। वाघाणी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर सवाल उठाते हुए कहा कि चुनाव में हार्दिक का साथ लेने वाले राहुल ने अभी तक हार्दिक के उपवास व आरक्षण को लेकर एक ट्वीट भी नहीं किया है।

 

Posted By: Sachin Mishra