अहमदाबाद, जागरण संवाददाता। गुजरात में कोरोना की दूसरी लहर पर पूरी तरह काबू पा लिया गया है पिछले करीब 10 दिन से गुजरात में कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई। मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा है कि गुजरात में कोरोना के दूसरे लहर में उल्लेखनीय काम किया है तथा सरकार ने संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए सभी आवश्यक तैयारियां कर रखी है। गुजरात में कक्षा 9 से 12वीं तक के छात्र-छात्राओं के लिए स्कूलों को खोल दिया गया है तथा सरकार अब उच्च प्राथमिक कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए भी स्कूल खोलने की लिए विचार करेगी। शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह चूड़ास्मा ने खुद बताया कि सरकार कोरोना संक्रमण के कम होने के बाद शिक्षण संस्थाओं को खोल रही है तथा छोटे बच्चों के लिए भी गाइडलाइन के साथ स्कूल खोलने पर विचार कर रही है। गुजरात में मंगलवार को पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 30 मामले दर्ज हुए जबकि राज्य में कहीं पर भी कोरोना से मौत दर्ज नहीं हुई।

गुजरात में कोरोना से अब तक 8 लाख 24774 लोग संक्रमित हुए उनमें से 8 लाख 14413 लोग लोग स्वस्थ होकर घर पहुंच गए हैं। गुजरात में सक्रिय केसों की संख्या 285 हैं जबकि वेंटिलेटर पर 5 मरीज स्वास्थ्य सेवाएं ले रहे हैं। पिछले 24 घंटे में सूरत महानगर पालिका में 8, अहमदाबाद में चार, वडोदरा में तीन, राजकोट में दो, तथा जामनगर महानगर पालिका में कोरोना का एक केस दर्ज किया गया।

राज्य के विभिन्न जिलों में कोरोना के केस इस प्रकार हैं सूरत में 3, मेहसाणा पंचमहाल में दो-दो, अमरेली, आणंद, जामनगर, कच्छ, वडोदरा में एक एक केस दर्ज हुआ। राज्य के 25 जिले ऐसे हैं जहां कोरोना का एक भी केस दर्ज नहीं हुआ इनमें अहमदाबाद, अरवल्ली, बनासकांठा, भरूच, भावनगर, बोटाद, छोटा उददपुर, दाहोद, डांग, देवभूमि द्वारका, गांधीनगर, गीर सोमनाथ, जूनागढ़, खेड़ा, महीसागर, मोरबी, नर्मदा, नवसारी, पाटण, पोरबंदर, राजकोट, साबरकांठा, सुरेंद्रनगर, तापी तथा वलसाड जिला शामिल है।

Edited By: Babita Kashyap