अहमदाबाद, जेएनएन। Ahmedabad Airport. गुजरात में अहमदाबाद सरदार वल्लभभाई पटेल इंटरनेशनल एयरपोर्ट से हजारों यात्री आवागमन करते हैं। इस एयरपोर्ट से गत पांच वर्ष में बर्ड हिट की 309 घटनाएं हुई हैं। इस प्रकार यहां औसतन पांच घटनाएं होती हैं। यहां फ्लाइट में विलंब का अपना रिकार्ड है। प्रतिदिन 75 फ्लाइट विलंब से पहुंचती हैं। आरटीआइ के लिखित प्रश्न के जवाब में विमान प्राधिकरण ने यह जानकारी दी।

अहमदाबाद एयरपोर्ट पर गत सप्ताह बर्ड हिट के कारण 180 यात्रियों की जान को खतरा पैदा हुआ था। इसके अतिरिक्त अभी शुक्रवार को ही अहमदाबाद-जयपुर की फ्लाइट में कबूतर घुस गए थे। अभी कुछ दिन पहले ही अमेरिका के राष्ट्रपति के भारत दौरे पर सुरक्षा व्यवस्था सहित विविध बाबतों पर विशेष सावधानी रखी गई थी। किन्तु उनके जाते ही इस पर एक बार फिर सवालिया निशान लग गया हैं। इस बारे में अहमदाबाद हवाई अड्डा प्रबंधन अहमदाबाद महानगरपालिका की जिम्मेदारी होने का दावा करता हैं।

अहमदाबाद एयरपोर्ट पर वर्ष 2019 में बर्ड हिट की कुल 37 घटनाएं हुईं। वहीं, कुल 87875 फ्लाइट का आवागमन हुआ। इस प्रकार औसतन 10 हजार फ्लाइट पर बर्ड हिट की चार घटनाएं हुईं। इसी प्रकार 2018 में अहमदाबाद एयरपोर्ट पर बर्ड हिट की 85 घटनाएं हुईं। यह 2014 के बाद सर्वाधिक घटनाएं थीं। इस प्रकार कहा जा सकता है कि औसतन 922 फ्लाइट पर बर्ड हिट की एक घटना होती थी। बर्ड और एनीमल हिट के मामले में सर्वाधिक खतरनाक एयरपोर्ट में दिल्ली, मुंबई, कोलकाता के बाद अहमदाबाद को एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा चौथा क्रम दिया गया है।

बर्ड हिट की घटनाओं को रोकने के लिए अहमदाबाद एयरपोर्ट अथॉरिटी ने ‘नोटिस टू एयर मैन’ का प्रयोग शुरू किया था। जिसमें उड़ान भरने या उतरते समय उसके पायलट को सावधान कर दिया जाता था। हालांकि यह प्रयोग भी असफल हो गया। एयरपोर्ट अथॉरिटी  का दावा है कि पिराणा, मेघाणीनगर, कुबेरनगर, सरदारनगर में कचरों के कारण बर्ड हिट की घटनाएं बढ़ जाती हैं। मेघाणीनगर, कुबेरनगर और सरदारनगर टेकऑफ-लैण्डिंग क्षेत्र के निकट है। यहां कचरों का ढेर होने से पक्षिओं के झुण्ड से बर्ड हिट की संभावना बढ़ जाती हैं।

इसी यहाँ से फ्लाइट में विलंब का सिलसिला भी हैं। गत 13 महीने में कुल 3961 इंटरनेशनल और 30130 डोमेस्टिक फ्लाइट में विलंब हुआ हैं। एयरपोर्ट प्रशासन द्वारा कहा गया है पहली जनवरी 2019 से 31 जनवरी 2020 तक कुल 13 महीने में 3961 अंतरराष्ट्रीय उड़ान देर से उड़ान भरा और 1736 उड़ान विलंब से पहुंची। इसी समय दौरान 30130 फ्लाइट देर से उड़ान भरा तथा 12333 डोमेस्टिक उड़ान विलंब से पहुंची। 

गुजरात की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस