मैड्रिड, एपी। कोच लुई एनरिक स्वेदश मे आलोचना झेलने के लिए तैयार थे। उन्हें पता था कि फुटबाल विश्व कप के इतने करीब एक और निराशानक प्रदर्शन उनकी टीम और उनके काम पर सवाल खड़ा करेगा। लेकिन इसके बाद अंतिम लम्हों में दागे गए एक गोल ने सब कुछ बदल दिया और स्पेन की टीम फुटबाल की प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में खुशी और प्रशंसा के साथ उतरेगी।

स्पेन ने 88वें मिनट में गोल दागकर पुर्तगाल के विरुद्ध जीत के इंतजार को खत्म किया और नेशंस लीग में अंतिम-चार में जगह बनाई। पुर्तगाल को अपने सुपरस्टार स्ट्राइकर क्रिस्टियानो रोनाल्डो से अच्छे प्रदर्शन की आस थी, लेकिन वह एक भी गोल नहीं कर पाए। स्पेन के कोच एनरिक ने कहा कि फुटबाल में सवाल हमेशा नतीजों का परिणाम होते हैं। अगर हम हार गए होते तो यह कहा जाता कि सब कुछ एक त्रासदी थी। अब यह सब अलग है। अलवारो मोराटा के अंतिम मिनटों में दागे गोल से स्पेन ने 1-0 की जीत से ग्रुप ए2 में पुर्तगाल को पीछे छोड़ा और अगले साल जून में नीदरलैंड्स में खेले जाने वाले फाइनल्स में क्रोएशिया, इटली और नीदरलैंड्स के साथ जगह बनाई।

पुर्तगाल ने 2019 में स्वेदश में प्रतियोगिता का पहला सत्र जीता था, लेकिन तब से ग्रुप चरण से आगे नहीं बढ़ सका है। पिछले सप्ताहांत स्विट्जरलैंड से 1-2 से हारने से पहले तक स्पेन की टीम ग्रुप में अच्छी स्थिति में थी। पुर्तगाल की टीम स्पेन की हार का फायदा उठाकर चेक गणराज्य पर 4-0 की जीत के साथ शीर्ष पर पहुंच गई थी। वर्ष 2003 में एक दोस्ताना मैच के बाद से स्पेन लगभग दो दशक तक पुर्तगाल के विरुद्ध जीत हासिल नहीं कर पाया था। 1934 में विश्व कप क्वालीफाइंग में पुर्तगाल के विरुद्ध जीत के बाद से स्पेन की इस टीम के विरुद्ध विदेशी सरजमीं पर पहली प्रतिस्पर्धी जीत है।

पुर्तगाल और स्पेन पर लगातार जीत के बाद स्विट्जरलैंड ने चेक गणराज्य को स्वदेश में 2-1 से हराकर लीग बी में खिसकने के खतरे को टाला। लीग बी में नार्वे को अपने ग्रुप को जीतने के लिए सर्बिया के खिलाफ स्वदेश में ड्रा की जरूरत थी, लेकिन उसे हार का सामना करना पड़ा। अन्य मैचों में स्काटलैंड ने यूक्रेन को गोलरहित बराबरी पर रोककर अपने ग्रुप में शीर्ष स्थान हासिल किया। आयरलैंड की टीम आर्मेनिया पर 3-2 की जीत के साथ दूसरे टीयर की लीग में बरकरार है।

Edited By: Sanjay Savern

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट