अनादि बरुआ

आखिरकार फीफा विश्व कप के ग्रुप एच का रोमांच समाप्त हो गया। अपने आखिरी लीग मुकाबले में कोलंबिया ने येरी मिना के गोल की बदौलत सेनेगल को 1-0 से हराकर नॉकआउट राउंड में जगह बनाई। उधर इसी ग्रुप से अपने आखिरी लीग मुकाबले में पोलैंड से 0-1 से हार के बावजूद जापान की टीम ने अगले दौर में जगह बनाई। कोलंबिया और सेनेगल के बीच खेले गए मुकाबले के दौरान दोनों टीमों ने करीब-करीब एक जैसा खेल दिखाया। सेनेगल पूरी ताकत के साथ विश्व कप में बने रहने के लिए जूझती नजर आई लेकिन पास में बिखराव की वजह से उसे विश्व कप के ग्रुप स्टेज से ही बाहर होना पड़ा।

नीरस रहा पहला हाफ
पहले हाफ में सेनेगल की फिनिशिंग एकदम बेकार रही जबकि कोलंबिया ने भी इस दौरान कुछ ज्यादा कोशिशें नहीं की। खेल के 11वें मिनट में सेनेगल के युसूफ सेबले और चिकोउ ने कोलंबिया के कप्तान राडमेल फलकाउ को सैंडविच बना दिया जिसके बाद कोलंबिया को फ्री किक मिली। जुएन क्यूंटेरो ने फ्री किक ली लेकिन सेनेगल के गोलकीपर ने अपनी दायीं ओर एक अच्छा गोता लगाते हुए बचाव किया। कोलंबिया के खिलाफ सेनेगल को खेल के 17वें मिनट में रेफरी ने एक पेनाल्टी किक दी लेकिन वीडियो असिस्टेंट रेफरी (वार) की मदद से पता चला कि डेविंसन सांचेज ने गेंद को पहले ही किक किया और फिर वह सेनेगल के खिलाड़ी से पेनाल्टी बॉक्स में टकराए।

आधे घंटे में बदले गए रॉड्रिग्ज
फीफा विश्व कप 2014 में सर्वाधिक गोल करने वाले और गोल्डन बूट के विजेता कोलंबिया के जेम्स रॉड्रिग्ज को खेल के 31वें मिनट में उनके कोच जोसे पीकरमैन ने मैदान से वापस बुला लिया। पीकरमैन ने उनकी जगह लुइस मुरेल को स्थानापन्न खिलाड़ी के रूप में मैदान पर उतारा। रॉड्रिग्ज कोच के इस फैसले से खुश नहीं थे और वह सीधे ड्रेसिंग रूम में चले गए। हालांकि यह एक अच्छी खेल भावना का परिचय नहीं था। दूसरा हाफ शुरू होने के बाद वह बेंच पर बैठे नजर आए। आधे घंटे के खेल में रॉड्रिग्ज पूरी तरह फिट नहीं नजर आए और वह अपना स्वभाविक खेल भी नहीं दिखा पा रहे थे।

गोल की मारामारी
दूसरा हाफ भी गोल की कोशिशों के बीच शुरू हुआ। खेल के 62वें मिनट में सेनेगल को फ्री किक मिली जिसे उसके स्टार स्ट्राइकर माने लेने आए लेकिन वह गेंद को किक करते समय गिर गए और गेंद गोल पोस्ट के बाहर से निकल गई। इसके दो मिनट बाद ही कोलंबिया को भी सेनेगल के हाफ में एक फ्री किक मिली लेकिन वह कोशिश भी बेकार गई।

मिना ने ताड़ा मौका
74वें मिनट में कोलंबिया को एक कॉर्नर किक मिली। क्वांतेरो द्वारा लिए गए इस कॉर्नर पर येरी मिना ने हेडर के जरिये गेंद को गोल पोस्ट में पहुंचाकर कोलंबिया को 1-0 से आगे कर दिया। स्पेनिश क्लब बार्सिलोना के लिए खेलने वाले सेंटर बैक मिना ने सही समय पर हेडर लगाया और गेंद एक टप्पे के बाद नेट्स में जा समाई। 1-0 की यह बढ़त कोलंबिया को अगले दौर में पहुंचाने के लिए काफी था।

(लेखक पूर्व भारतीय फुटबॉलर हैं)

नंबर गेम

-01 जीत दर्ज की है कोलंबिया ने सेनेगल पर। इससे पहले इन दोनों के बीच में महज एक मैच हुआ था और वह मुकाबला ड्रॉ रहा था।

-2014 विश्व कप में कोलंबिया ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई थी। अंतिम-8 के मुकाबले में उसे ब्राजील के हाथों शिकस्त मिली थी।

-2002 में अपना पहला विश्व कप खेलने वाली सेनेगल की टीम ने दूसरी बार विश्व कप के लिए क्वालीफाई किया था।

-02 गोल मिना के नाम हो गए हैं फीफा विश्व कप 2018 में। इससे पहले उसने पोलैंड के खिलाफ मुकाबले में एक गोल दागा था।

-1982 के बाद ऐसा पहला मौका है जब कोई भी अफ्रीकन टीम नॉकआउट दौर में नहीं पहुंची

स्कोर लाइन

कोलंबिया बनाम सेनेगल

1-0

कोलंबिया - मिना 74वें मिनट

मैच के आंकड़े 

कोलंबिया-सेनेगल

56 प्रतिशत, गेंद रखी, 44 प्रतिशत

04, गोल के प्रयास, 08

03, कॉर्नर किक, 01

01, यलो कार्ड, 01

438, कुल पास, 292

फीफा की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

फीफा के शेड्यूल के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप