लिवरपूल, एएफपी। इंग्लिश फुटबॉल क्लब एवर्टन ने मैनचेस्टर सिटी के मिडफील्डर फैबियन डेल्फ के साथ करार किया। एवर्टन ने बताया कि उसने डेल्फ के साथ तीन साल का करार किया। हालांकि एवर्टन ने अभी तक यह नहीं बताया कि इंग्लैंड के इस 29 वर्षीय अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी के साथ करार के बदले कितना अदा किया है।

डेल्फ 2015 में एस्टन विला को छोड़कर सिटी से जुड़े थे। पिछले चार साल में उन्होंने सिटी के लिए 89 मैच खेले और अपने क्लब को दो इंग्लिश प्रीमियर लीग खिताब दिलाने में अहम भूमिका निभाई। इसके अलावा वह इंग्लैंड की राष्ट्रीय टीम की ओर से 20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेल चुके हैं। एवर्टन के मैनेजर मार्को सिल्वा ने क्लब की वेबसाइट को बताया कि जब मैं टीम में एक नए खिलाड़ी को लाने के बारे में सोचता हूं तो मैं सबसे पहले गुणवत्ता देखता हूं और फैबियन एक उच्च गुणवत्ता वाले खिलाड़ी हैं। उधर डेल्फ के हवाले से वेबसाइट ने कहा कि जब भी कम घरेलू या अवे मुकाबलों में एवर्टन के खिलाफ खेलता था तो सीधे मेरे दिमाग में एक ही बात आती है और वह है इसके इसके समर्थकों का जुनून।

मैं कभी पीछे मुड़कर नहीं देखूंगा : लैंपार्ड

योकोहामा, एएफपी : इंग्लिश क्लब चेल्सी के दिग्गज खिलाड़ी रहे फ्रैंक लैंपार्ड ने क्लब के मैनेजर का पद संभालकर संभवत: अपने करियर की सबसे बड़ी चुनौती स्वीकारी है लेकिन उन्होंने कहा है कि वह कभी पीछे मुड़कर नहीं देखेंगे। जापान में चेल्सी दो दोस्ताना मुकाबले खेलने गई हुई है। इस मौके पर लैंपार्ड ने कहा कि वह मौजूदा टीम के साथ बहुत खुश हैं लेकिन उम्मीद कर रहे हैं कि प्री सीजन में खिलाड़ी कड़ी मेहनत करेंगे। उन्होंने कहा कि मेरे लिए कहानी यह है कि पीछे मुड़कर मत देखो। मैं क्लब और इसके खिलाडि़यों को अच्छे से जानता हूं। मेरे काम करने का अपना तरीका है जिसे में खिलाडि़यों के साथ करना चाहता हूं। साथ ही लैंपार्ड ने कहा कि क्लब को किसी नए खिलाड़ी की जरूरत नहीं है। चेल्सी की टीम अगले दोस्ताना मुकाबले में जापान की कवासाकी फ्रोंटेल से 19 जुलाई को भिड़ेगी। लैंपार्ड के पास लंबे समय तक चेल्सी के साथ खेलने का अनुभव है। इस क्लब के साथ उन्होंने 13 साल में 13 खिताब जीते और चेल्सी की ओर से सर्वकालिक सर्वाधिक 211 गोल करने वाले खिलाड़ी बने थे।

गोवा के मुख्यमंत्री ने पीएमओ को फुटबॉल संकट पर लिखा पत्र

मडगांव : गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने मंगलवार को प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से आग्रह किया कि वह हस्तक्षेप करें और राज्य के मशहूर क्लब चर्चिल ब्रदर्स को भारतीय फुटबॉल के मौजूदा संकट से निकालने में मदद करें। चर्चिल ब्रदर्स के अध्यक्ष चर्चिल अलेमाओ और सीईओ वेलांका अलेमाओ के साथ बैठक के बाद सावंत ने यह कदम उठाया। क्लब की अपील का समर्थन करते हुए मुख्यमंत्री ने पीएमओ को भेजे पत्र में लिखा कि फुटबॉल ऐसा खेल है जो गोवा के हर व्यक्ति को एक सूत्र में पिरोता है और जज्बा जगाता है। गोवा ने भारत को दिग्गज फुटबॉलर दिए। मैं प्रधानमंत्री से निवेदन करता हूं कि वे चर्चिल ब्रदर्स एफसी की अपील पर विचार करें जो गोवा के शीर्ष क्लबों में से एक है। आइ-लीग देश में शीर्ष डिविजन की लीग रही है और किसी भी कीमत पर यह दर्जा बनाए रखने की जरूरत है। एएफसी और फीफा ने भी इस तथ्य को स्वीकार किया है। भारतीय फुटबॉल से जुड़ा संकट इस महीने की शुरुआत में ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंच गया था जब छह आइ-लीग क्लबों ने उनसे जांच आयोग का गठन करने और अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ की कार्यशैली की जांच करने का निवेदन किया था।

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप