यांगून, प्रेट्र। स्ट्राइकर सुनील छेत्री के अंतिम क्षणों में किए गए गोल की मदद से भारत ने एएफसी एशियन कप क्वालीफायर्स के मैच में म्यांमार को 1-0 से हराकर शानदार जीत दर्ज की। भारतीय टीम ने 64 सालों के बाद म्यांमार में जीत दर्ज की।

भारत ने अक्टूबर, 1953 में रंगून (अब यांगून) में चतुष्कोणीय टूर्नामेंट में म्यांमार को 4-2 से हराया था। इससे पहले म्यांमार ने मार्च, 2013 में यांगून में एएफसी चैलेंज क्वालीफायर्स में भारत को 1-0 से मात दी थी। लेकिन भारत ने इस बार उस हार का बदला चुका कर लिया। ग्रुप 'ए' के इस मैच में म्यांमार ने पूरे मैच पर अपनी पकड़ बनाए रखी, लेकिन भारत को 90वें मिनट में विपक्षी डिफेंस की सुस्ती का फायदा उठाते हुए छेत्री ने दायें छोर से मिली गेंद पर बेहतरीन गोल दागकर अपनी टीम को जीत दिलाकर तीन अंक दिलाए।

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

भारत का अगला मैच 13 मार्च को अपने घर में किर्गिस्तान से होगा। ग्रुप 'ए' में शीर्ष पर रहने वाली दो टीमें संयुक्त अरब अमीरात में 2019 एएफसी कप के फाइनल राउंड के लिए क्वालीफाई करेंगी। भारतीय टीम ने इससे पहले अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैच में कंबोडिया को 3-2 से हराया था।

बराबरी की तरफ बढ़ रहे मैच में छेत्री ने यूदांता सिंह और जेजे लालपेखलुआ के साथ मूव बनाया। यूदांता ने दायें छोर से तेजी से आगे बढ़ते हुए छेत्री को सेंटर दिया और छेत्री ने गेंद को बायें कॉर्नर में पहुंचाने में कोई गलती नहीं की।

क्रिकेट से जुड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Edited By: Shivam Awasthi