अल खोबार (सऊदी अरब), पीटीआइ। 2020 एएफसी अंडर-19 चैंपियनशिप क्वालीफायर में रविवार को भारतीय फुटबॉल टीम का अभियान अफगानिस्तान के खिलाफ 0-3 से हार के साथ खत्म हुआ। अफगानिस्तान की टीम ने मैच के पहले हाफ में ही तीन गोल करके भारतीय टीम पर बड़ी बढ़त हासिल कर ली।

हालांकि भारतीय टीम ने वापसी की हर संभव कोशिश की लेकिन वह अफगानिस्तान के डिफेंस में सेंध नहीं लगा सकी। टीम ने दूसरे हाफ में गोल करने के कुछ मौके बनाए लेकिन उसे सफलता नहीं मिली। दो मौकों पर गेंद गोल पोस्ट से टकराकर बाहर निकल गई। इस हार के साथ ही टूर्नामेंट में भारत का सफर लगातार तीन हार के साथ खत्म हुआ।

अफगानिस्तान ने खेल के दूसरे मिनट में ही कप्तान अहमद रमाकि के गोल से बढ़त हासिल कर ली। इसके दो मिनट बाद मिडफील्डर अहमद नौशाद ने गोल करके इस बढ़त को दोगुना कर दिया। कोच फ्लॉयड पिंटो की भारतीय टीम ने इसके बाद मैच में वापसी के लिए आक्रमक रुख अपनाया जिसका टीम को फायदा मिलता हुआ भी दिखा।

मैच के 22वें मिनट में विक्रम प्रताप संधू ने शानदार किक लगाई जिसे अफगानिस्तान के गोलकीपर ने गेंद को हाथ लगाकर गोल पोस्ट से दूर कर दिया। इसके बाद मैच के 29वें मिनट में खातम डेल ने अफगानिस्तान के लिए तीसरा गोल कर भारतीय उम्मीदों पर पानी फेर दिया। इससे पहले भारतीय टीम को सऊदी अरब ने 4-0 से हराया था।

इस मैच में भारतीय टीम पर विरोधी टीम पूरी तरह से हावी दिखी। इसके अलावा भारतीय टीम की अनुभवहीनता भी सामने आई। सऊदी अरब ने शुरुआत से ही आक्रामक खेल दिखाया और तीन गोल दागे। भारतीय टीम ने मैच में मौके तो बनाए, लेकिन विरोधी टीम ने उनके मौकों को नाकाम साबित कर दिया। सऊदी अरब ने सारे गोल पहले ही हाफ में दाग दिए। ध्यान देने वाली बात ये है कि भारतीय टीम ने दूसरे हाफ में एक भी गोल करने का मौका इस टीम को नहीं दिया। हालांकि वो खुद भी एक भी गोल करने में नाकाम रहे। 

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप