डिएगो मेराडोना

अर्जेंटीना को ग्रुप में एक मैच शेष रहते हुए तालिका में सबसे नीचे देखना बहुत ही दुखद है। चुनौती काफी मुश्किल है, क्योंकि न सिर्फ हमें अपना मैच जीतना है, बल्कि क्रोएशिया और आइसलैंड के मैच के परिणाम पर भी निर्भर होना होगा। हालांकि, मैंने अभी भी उम्मीद नहीं छोड़ी है। यह स्थिति मुझे 1982 और 1990 की याद दिलाती है। दोनों बार गत चैंपियन होते हुए हमने हार से शुरुआत की थी। पहली बार दूसरे दौर में बाहर होने से पहले हमने बाद के दोनों मैचों में जीत दर्ज की थी। दूसरे मौके पर मैं कप्तान था और हम फाइनल तक पहुंचे थे। पहले भी दो बार हम मुश्किल में पडऩे के बाद संघर्ष कर ग्रुप दौर से आगे बढ़े हैं। इससे मुझे विश्वास मिलता है कि इस बार भी हम ऐसा कर सकेंगे।

अर्जेंटीना को नाइजीरिया के खिलाफ बड़ी जीत की दरकार है। इससे पूरा पासा पलट जाएगा और खिलाडिय़ों को यह याद रखना चाहिए कि दुनिया को अपनी काबिलियत दिखाने का यह आखिरी मौका है। मुझे उन पर भरोसा है कि वे ऐसा कर सकते हैं। कोच जॉर्ज साम्पोली को इसी के मुताबिक रणनीति बनानी होगी और हर खिलाड़ी की भूमिका तय करनी होगी। उनका चयन बिल्कुल सटीक होना चाहिए, नहीं तो चीजें फिर से मेसी पर टिक जाएंगी। उन्हें एक खिलाड़ी पर निर्भर रहने के बजाय टीम के रूप में खेलना चाहिए। पहले मैच में हमने दबाव बनाया था, लेकिन आइसलैंड के डिफेंस को तोडऩे में असफल रहे। गोलकीपर विलफ्रेडो कैबलेरो द्वारा तोहफे में गोल देने के बाद क्रोएशिया हम पर हावी हुआ। निश्चित तौर पर हमे चोटिल सर्गियो रोमेरियो की कमी खली, लेकिन फुटबॉल में कभी भी कुछ भी हो सकता है। कोई भी हारने के लिए नहीं खेलता और यह एक दुर्घटना थी। पीछे देखने के बजाय हमें मौके को भुनाने के बारे में सोचना चाहिए।

नाइजीरिया एक खतरनाक विपक्षी टीम है। हमने विश्व कप में कई बार उनका सामना किया है और हर बार जीत दर्ज की है। इससे एक मानसिक बढ़त हमें हासिल है। उनके पास तीन अंक हैं और अगर आइसलैंड क्रोएशिया को नहीं हरा पाती है, तो एक ड्रॉ से भी वे दूसरे दौर में पहुंच जाएंगे। नाइजीरिया पूरे जोश में होगा। हमारे खिलाडिय़ों को जज्बा दिखाते हुए अपनी सर्वश्रेष्ठ फुटबॉल खेलनी होगी। अर्जेंटीना को लेकर कुछ मुद्दे हैं। पहले मैच में वे 4-2-3-1 के संयोजन से खेले और दूसरे में 3-4-3 के साथ। दोनों ही बार मिडफील्ड विपक्षी टीम को रोकने में असफल रहा। चार साल पहले जेवियर माशेरानो इस पोजीशन पर शानदार थे, लेकिन अब वे इस बोझ को अकेले उठाने में सक्षम नहीं दिख रहे हैं। इससे डिफेंस पर अतिरिक्त दबाव बढ़ गया है और साम्पोली को इस बारे में सोचना होगा।

पूरी दुनिया की निगाहें मेसी पर होंगी। यह स्वाभाविक भी है। मगर मैं फिर से यही कहूंगा कि यह एक टीम गेम है व्यक्तिगत नहीं। जीत या हार एक टीम की होती है। कम ऑन अर्जेंटीना।

चोट के बावजूद खेलेंगे मिकेल

नाइजीरिया के अनुभवी कप्तान जॉन ओबी मिकेल बायें हाथ में लगी चोट के बावजूद अर्जेंटीना के खिलाफ मैच में खेलेंगे। 31 वर्षीय मिडफील्डर मिकेल को शुक्रवार को आइसलैंड के खिलाफ हुए मुकाबले में इंजुरी टाइम के दौरान चोट लगी थी। नाइजीरिया के कोच गेर्नोट रोहर ने कहा कि दुर्भाग्य से हमारे कप्तान को बायें हाथ में चोट लगी है, लेकिन मेरे विचार में वह अगले मैच में खेलेंगे। रोहर ने कहा कि हमारी मेडिकल टीम मिकेल पर नजर बनाए हुए हैं।

नंबर गेम :

-04 पिछले मुकाबले जो अर्जेंटीना ने विश्व कप में नाइजीरिया के खिलाफ खेले हैं, सभी में उसे जीत मिली है

आमने-सामने

मैच - 08

अर्जेंटीना जीता : 05

नाइजीरिया जीता : 02

ड्रॉ : 01

पिछले पांच मैचों में प्रदर्शन

टीमें, जीत, हार, ड्रॉ

अर्जेंटीना, 02, 02, 01

नाइजीरिया, 01, 03, 01

फीफा रैंकिंग :

अर्जेंटीना : 05

नाइजीरिया : 48

विश्व कप में पिछला मैच : 

अर्जेंटीना 0-3 क्रोएशिया

नाइजीरिया 2-0 आइसलैंड

फीफा विश्व कप की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

By Sanjay Savern