नई दिल्ली, जेएनएन। Devoleena Bhattacharjee Mother Warns Daughter Against Rashmi Desai: फ़र्स्ट फ़िनाले के बाद रश्मि देसाई और देवोलीना भट्टाचार्जी की बिग बॉस के घर में वापसी हो चुकी है। टीवी की इन दोनों बहुओं के निशाने पर सिद्धार्थ शुक्ला हैं, जो घर में होने वाले हर हंगामे के केंद्र में नज़र आते हैं। देवोलीना की भी सिद्धार्थ से काफ़ी कहा-सुनी हो चुकी है। इस दौरान उन्होंने कुछ ऐसा बोल दिया, जिसके लिए उनकी मां ने सिद्धार्थ शुक्ला से माफ़ी मांगी है।

देवोलीना ने एक टक्स के दौराम गर्मागर्मी में सिद्धार्थ को साइको कह दिया था। टाइम्स ऑफ़ इंडिया से हुई बातचीत में देवोलीना की मां अनीमा ने कहा कि देवोलीना ने सिद्धार्थ को साइको कहकर ग़लत किया। टीवी पर इस तरह के शब्द नहीं जाने चाहिए। उसके लिए यह ठीक नहीं है। उसकी ओर से मैं माफ़ी मांगती हूं। देवोलीना की मॉम को यह भी लगता है कि घर में उन्हें रिश्ते बनाते हुए सावधानी बरतनी चाहिए।

रश्मि देसाई उन्हें कभी भी धोखा दे सकती हैं। बता दें कि रश्मि, देवोलीना और शेफाली बग्गा एक साथ इविक्ट हुई थीं। शेफाली तो घर से बाहर आ गयीं, मगर रश्मि और देवोलीना बाहर नहीं आयी थीं, जिसके बाद से ही लगने लगा था कि उनकी घर में वापसी हो सकती है। 

वापसी के बाद से ही दोनों टीवी एक्ट्रेसेज़ के तेवर काफ़ी तीख़े हो गये हैं। देवोलीना भी दोबारा मिले इस मौक़े को ज़ाया नहीं जाने देना चाहतीं और अपने गेम को आक्रामक बना रही हैं। इसी इंटरव्यू में देवोलीना की मॉम ने यह ख़्वाहिश भी ज़ाहिर की कि अगर देवोलीना को घर में कोई साथी मिल जाता है तो उन्हें कोई दिक्कत नहीं है। बस इंसान अच्छा होना चाहिए। 

उधर, सोमवार रात प्रसारित हुए एपिसोड में दिखाया गया कि नॉमिनेशन प्रक्रिया के तहत पीसीओ टास्क आयोजित किया गया, जिसमें कंटेस्टेंट्स एक-दूसरे को फोन करते हैं और कंविंस करते हैं कि सामने वाला फोन रख दे। जो फोन रखता है वो नॉमिनेट हो जाता है, जो फोन नहीं रखता वो सेफ़ हो जाता है। इस प्रक्रिया में रश्मि देसाई के लिए पारस छाबड़ा फोन रख देते हैं और ख़ुद नॉमिनेट हो जाते हैं। विकास फाटक यानि हिंदुस्तानी भाऊ के लिए विशाल आदित्य सिंह फोन रखकर नॉमिनेट हो जाते हैं। वहीं, माहिरा शर्मा और आरती सिंह फोन नहीं रखतीं और दोनों नॉमिनेट हो जाती हैं।

Posted By: Manoj Vashisth

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप