ब्रांड डेस्क। कॉलेज की छुट्टियां हो या फिर ऑफिस की छुट्टियां हमारे पास पहले से ही प्लान होता है, कहीं ट्रिप पर जाने का। किसी को पहाड़ों की वादियां पसंद है, तो किसी को समुद्र की लहरे और बीच, ऐसे में हम अपनी फेवरेट जगह को चुनकर बैक पैक के साथ निकल पड़ते हैं। ट्रैवलिंग हर किसी के लिए एक पसंदीदा हॉबी है और इसके पीछे की वजह भी है। जब कोई व्यक्ति एक जगह से दूसरी जगह की यात्रा करता है, तो उसे कई चीजों का एक्सपीरियंस होता है। इस दौरान वह अलग-अलग तरह के कल्चर, खानपान, भौगोलिक स्थिति का अनुभव करता है।

नई जगह पर होने से हमारी एक्साइटमेंट कई गुना बढ़ जाती है और उस एक्साइटमेंट को दूसरे के साथ शेयर करने का हमारा मन बहुत करता है। हम शब्दों, तस्वीरों या फिर वीडियो के जरिए खास जगह की खास जानकारियों को सबके साथ जाहिर करना चाहते हैं। नई जगह पर होने की खुशी को शब्दों, तस्वीरों या फिर वीडियो के जरिए सबके साथ जाहिर करने का स्वदेशी ऐप koo एक बहुत ही अच्छा प्लेटफॉर्म है। अगरआप पहाड़ों पर हैं तो वहां की खूबसूरती या वहां की खास जगहों के बारे में इस प्लेटफॉर्म पर सबके साथ साझा कर सकते हैं। वहीं अगर आप समुद्र के किनारे हैं या फिर नए शहर में हैं, तो वहां के अनुभव koo ऐप पर कू कर सकते हैं। इससे लोगों को नई जानकारी मिलेगी और आपके फॉलोअर्स भी बढ़ेंगे।

वैसे koo की खूबियां लोगों के ट्रैवलिंग एक्सपीरियंस को स्पेशल बना देगी, जैसेअभिनेत्री Helly Shah का इस बार का ट्रिप काफी स्पेशल है, क्योंकि वह अपने ट्रैवल के एक्साइटमेंट को भारतीय सोशल मीडिया ऐप koo पर अपनी भाषा में और अपने अंदाज में कू करने वाली हैं।

आप भी अपनी यात्रा के खूबसूरत पल को koo पर सबके साथ साझा कीजिए। यात्रा करने के साथ-साथदेश दुनिया की खबरों के साथ जुड़े रहना भी बहुत जरूरी है। इसलिए लेटेस्ट खबरों के लिए koo ऐप पर DainikJagran को जरूर फॉलो करें।

koo हम सबकी आवाज बनकर हमें एकजुट करता है बिना किसी भाषा के बिना किसी बंधन के। यह लोगों को न केवल अपने भाव को साझा करने का प्लेटफॉर्म देता है, बल्कि भारत की आवाज बनकर सबको एकसाथ जोड़ भी रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह कई भाषाओं में उपलब्ध है। इसमें यूजर्स की सुविधा के अनुसार कई फीचर्स दिए गए हैं। इसका 'टॉकटूटाइप' फीचर बहुत ही बेहतरीन फीचर है। इस फीचर की मदद से आपको ऐप पर टाइप करने की जरूरत नहीं है। आप जो भी बोलेंगे यह फीचर उसे आसानी से लिख देगा।

आपको बता दें कि koo नौ भाषाओं में उपलब्ध है। अगरआप हिंदी, इंग्लिश, कन्नड, तमिल, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, असमी, गुजराती में से कोई सी भी भाषा जानते हैं तो आप koo पर आसानी से लिखकर या बोलकरअपने विचार दुनिया के सामने व्यक्त और साझा कर सकते हैं। इस ऐप पर और भी भाषा जैसे उर्दू, पंजाबी, संस्कृत, उड़िया, मलयालम, नेपाली आदि जल्द उपलब्ध होगा।

Note - यह आर्टिकल ब्रांड डेस्‍क द्वारा लिखा गया है।

Edited By: Pratiksha Ranawat