नई दिल्ली, जेएनएन। साल 2020 में करोड़ों का नुक़सान उठाने के बाद इस साल फ़िल्म इंडस्ट्री के हालात सुधरने की उम्मीद थी, मगर मार्च में कोरोना वायरस पैनडेमिक की दूसरी लहर ने बॉलीवुड फ़िल्म इंडस्ट्री को चिंता में डाल दिया है। ख़ासकर, महाराष्ट्र में कोविड-19 मामलों की अप्रत्याशित बढ़ोत्तरी की वजह से फ़िल्म कारोबार प्रभावित होने के आसार बनने लगे हैं। 

देश में कोरोना वायरस ने एक बार फिर रफ़्तार पकड़ ली है। पिछले 24 घंटों में 81 हज़ार से अधिक नये मामले निकले हैं। इनमें सबसे ज़्यादा केस महाराष्ट्र के हैं, जिसके बाद माना जा रहा है कि प्रदेश में कोविड-19 की रफ़्तार थामने के लिए महाराष्ट्र सरकार एहतियातन कड़े क़दम उठा सकती है।

इनमें प्रदेश में लॉकडाउन भी सम्भावित है, जिसके संकेत मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार की रात अपने संबोधन में दिये।  अगर, ऐसा हुआ तो फ़िल्म इंडस्ट्री के लिए एक बार फिर चुनौती खड़ी होने वाली है, क्योंकि मुंबई फ़िल्मों के लिए एक अहम बाज़ार है और अप्रैल-मई में कई बड़ी फ़िल्में रिलीज़ होने वाली हैं। 

लॉकडाउन से सबसे अधिक प्रभावित वो लोग होते हैं, जो थिएटर्स में रोज़गार से जुड़े हैं। इसीलिए, लॉकडाउन की आहट ने मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन को बैचेन कर दिया। इसके प्रेसीडेंट कलम गियानचंदानी ने सरकार से मीडिया के ज़रिए अपील की है कि लॉकडाउन जैसे उपाय फ़िल्म इंडस्ट्री की सेहत के लिए घातक हो सकते हैं। एक स्टेटमेंट में उन्होंने कहा- फ़िल्म इंडस्ट्री रिकवरी के रास्टे पर है और कई लोगों का रोज़गार इससे जुड़ा है। लॉकडाउन के बजाय कड़े नियम और एसओपी का पालन समाधान होना चाहिए। 

क्या टलेगी इन फ़िल्मों की रिलीज़?

अप्रैल की बात करें तो 23 तारीख़ को कंगना रनोट की फ़िल्म थलाइवी रिलीज़ होने वाली है। अभी तक की रिपोर्ट के अनुसार, कंगना ने साफ़ कर दिया है कि उनकी फ़िल्म तय तारीख़ पर ही आएगी। इसके एक हफ़्ते बाद 30 अप्रैल को अक्षय कुमार की फ़िल्म सूर्यवंशी सिनेमाघरों में आने वाली है। अभी तक तो इसकी रिलीज़ टलने की कोई सूचना नहीं है। इस फ़िल्म का दर्शकों के साथ थिएटर मालिक़ों को भी काफ़ी इंतज़ार है।

मई में जिन दो बड़ी फ़िल्मों का इंतज़ार है, उनमें सलमान ख़ान की राधे-योर मोस्ट वॉन्टेड भाई और जॉन अब्राहम की सत्यमेव जयते 2 शामिल हैं, जो 13 मई को सिनेमाघरों में आएंगी। सूत्रों के अनुसार, राधे की टीम ने अभी तक रिलीज़ टालने को लेकर कोई फ़ैसला नहीं किया है। फ़िलहाल स्थिति पर नज़र बनाये हुए हैं। फ़िल्म से जुड़े एक सूत्र ने जागरण को बताया कि राधे का ट्रेलर भी तैयार है। मगर, इसे रिलीज़ करने की तारीख़ अभी तय नहीं की गयी है। महाराष्ट्र में हालात किस तरह करवट बदलते हैं, उस पर यह निर्भर करेगा। 

हालांकि, यह बात पक्की है कि राधे सिनेमाघरों में ही आएगी, क्योंकि फ़िल्म को लेकर अभी तक किसी ओटीटी प्लेटफॉर्म से किसी तरह की बात नहीं हुआ है। फ़िल्मों के ट्रेलर अमूमन रिलीज़ से महीनाभर पहले रिलीज़ किये जाते हैं। इस लिहाज़ से राधे की टीम के पास अभी लगभग 10 दिनों का वक़्त है। अगर इस बीच कोरोना वायरस की रफ़्तार थमी तो ट्रेलर रिलीज़ कर दिया जाएगा। सलमान फ़िलहाल अपनी फ़िल्म टाइगर 3 की शूटिंग भी कर रहे हैं। प्रवक्ता ने बताया कि सलमान की टीम ने कोविड मामलों में बढ़ोत्तरी के मद्देनज़र 'राधे' के प्रचार के दौरान अतिरिक्त सावधानी बरतने के लिए प्लानिंग तैयार कर ली है। इस दौरान सभी सुरक्षा प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन किया जाएगा। 

खिसक चुकी है इन फ़िल्मों की रिलीज़

फ़िल्मों की रिलीज़ टलने का सिलसिला मार्च से ही शुरू हो चुका है। कोरोना वायरस पैनडेमिक को देखते हुए इरोस इंटरनेशनल ने 26 मार्च को रिलीज़ हो रही राणा दग्गूबटी की फ़िल्म हाथी मेरे साथी की रिलीज़ स्थगित कर दी थी। इसके बाद यशराज बैनर ने अपनी फ़िल्म बंटी और बबली 2 की रिलीज़ पोस्टपोन करने का एलान कर दिया, जो 23 अप्रैल को आने वाली थी। अमिताभ बच्चन और इमरान हाशमी की फ़िल्म चेहरे भी अब 9 अप्रैल को रिलीज़ नहीं होगी। ऐसे में अब सबकी नज़रें उन बड़ी फ़िल्मों पर टिकी हैं, जिनकी रिलीज़ के साथ फ़िल्म इंडस्ट्री, ख़ासकर थिएटर संचालकों ने अच्छे दिनों की उम्मीद लगा रखी थी। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021