नई दिल्ली, जेएनएन। एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण डिप्रेशन पर खुलकर बात करती हैं हाल ही में उन्होंने बताया कि एक ऐसा भी समय था जब वो आत्महत्या के बारे में सोचने लगी थीं। खुद को इस अवसाद से निकालने का श्रेय दीपिका पादुकोण अपनी मां को देती हैं। उन्हें कहा कि मां ने मुझे समझाया कि किसी मनोचिकित्सक के पास जाना चाहिए। एक्ट्रेस ने भारत में मानसिक स्वास्थ्य के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए एक एनजीओ की शुरुआत की है।

बॉलीवुड लाइफ की रिपोर्ट के अनुसार, दीपिका पादुकोण ने शेयर करते हुए कहा, 'मैं अपने करियर की ऊंचाई पर थी, सब कुछ ठीक चल रहा था, इसलिए कोई साफ वजह नहीं थी कि मैं ऐसा क्यों महसूस कर रही थी। उस वक्त मैं टूटा हुआ महसूस कर रही थी, ऐसा लगता था कि मैं पूरे दिन बस सो जाऊं। मुझे लगता आत्महत्या कर लूंगी तो इन सबसे छुटकारा मिल जाएगा।  मेरे माता-पिता बैंगलोर में रहते हैं और जब वे मुझसे मिलने आते तो मैं एकदम नॉर्मल बिहेव करती जैसे कुछ हुआ ही नहीं हैं।'

'एक दिन जब तक मेरे माता-पिता बंगलौर जा रहे थे और वापस जा रहे थे तो मुझे अचानक ही ब्रेकडाउन हो गया। मेरी मां ने पूछना शुरू कर दिया कि तुम्हें क्या हुआ है, क्या ये बॉयफ्रेंड की वजह से है, या फिर प्रोफेशनल लाइफ में कुछ हुआ है। मेरे पास कोई जवाब नहीं था क्योंकि यह इन चीजों में से कुछ भी नहीं था। पर मेरी मां ने समझ लिया कि मैं अवसाद में हूं।'

वर्कफ्रंट की बात करें तो दीपिका पादुकोण शाह रुख खान की फिल्म पठान में नजर आने वाली हैं। इसके साथ ही उनके पास ऋतिक रोशन के साथ फाइटर भी है। जिसमें दीपिका स्टंट सीन करती नजर आएंगी। फाइटर की रिलीज डेट अभी तक सामने नहीं आई तो वहीं पठान अगले साल सिनेमाघरों में आएगी। 

Edited By: Ruchi Vajpayee