नई दिल्ली, जेएनएन। Happy Birthday Naseeruddin Shah: फिल्मी दुनिया के प्रसिद्ध अभिनेता आज नसीरुद्दीन शाह का आज जन्मदिन है। वे 69 वर्ष के हो गए हैं। उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में 20 जुलाई 1950 को जन्में नसीरुद्दीन शाह आज अपने आप में एक एक्टिंग संस्थान बन गए हैं। खास बात यह है कि सामान्य लुक रखते हुए भी अपनी असाधारण प्रतिभा से नसीर साहब ने इंडस्ट्री में वो मुकाम पा लिया है जहां तक जाना कई लोगों के लिए एक ख्वाब ही हो सकता है। अपने करियर में नसीर साहब ने कई दिलचस्प और अलग-अलग किरदार किये हैं। आज उनके ऐसे ही खास किरदारों के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं।

नसीरुद्दीन ने हर प्रकार के किरदार किए हैं और यही एक बड़े और दिग्गज कलाकार की खासियत होती है। नसीरुद्दीन ने फिल्मों में अलग-अलग किरदार को इस प्रकार निभाया कि उनके अभिनय की मिसाल दी जाती है। नसीरुद्दीन के अभिनय का दायरा सिर्फ फिल्मों तक सीमित नहीं है। वे मझे हुए थिएटर कलाकार भी हैं और आज भी वे विभिन्न शहरों में जाकर प्रसिद्ध थिएटर प्ले का मंचन करते हैं। दर्शक उनके थिएटर प्ले को खास तौर पर देखने जाते हैं।

गालिब को जीया

राइटर, डायरेक्टर गुलज़ार साहब ने मिर्ज़ा गालिब पर एक पॉपुलर टीवी सीरीज़ बनाई थी। उस ऐतिहासिक सीरीज़ के लिए गुलज़ार ने गालिब की भूमिका के लिए नसीर साहब को ही चुना। आज भी यू ट्यूब पर लाखों लोग रोज़ इस वृत्त फिल्म को देखते हैं। यक़ीनन आज की पीढ़ी ने गालिब को नसीरुद्दीन शाह के जरिये ही जाना है। नसीर साहब ने परदे पर ग़ालिब की भूमिका निभाई नहीं बल्कि उन्होंने गालिब को जीया है।

फिल्मी पर्दे पर किया रोमांस

अगर बात करें फिल्मी पर्दे पर रोमांस की तो वे इसमें भी पीछे नहीं रहे। नसीरूदीन 69 के हो गए हैं मगर जब वह 60 साल के थे तब भी उन्होंने उनसे 28 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ रोमांस करने में पीछे नहीं रहे। फिल्म 'डेढ़ इश्किया' में नसीर ने खुद से 16 साल छोटी अभिनेत्री माधुरी के साथ रोमांटिक सीन दिए थे। फिल्म 'डर्टी पिक्चर' में भी उन्होंने 28 साल छोटी अभिनेत्री विद्या बालन के साथ जबरदस्त बोल्ड सीन दिए थे। उस समय नसीर की उम्र 62 थी।

कॉमिक किरदार में भी हिट

गंभीर से दिखने वाले नसरुद्दीन शाह ने कई कॉमिक किरदार भी निभाए हैं। 'जाने भी दो यारों' इंडियन क्लासिक फ़िल्मों में गिनी जाती है। इस फिल्म में संघर्ष कर रहे एक फोटोग्राफर की भूमिका से नसीरुद्दीन ने काफी गाढ़े रंग भरे। निगेटिव रोल भी किया 'सरफ़रोश' में आमिर ख़ान के साथ भी उन्होंने ज़बरदस्त काम किया है। इस फिल्म में निभाया गया उनका यह निगेटिव किरदार भी काफी यादगार है। सैकड़ों फिल्मों में अपने अभिनय से एक गहरी छाप छोड़ चुके नसीर साहब को पद्मश्री से लेकर कई अवार्ड तक मिले।

ऐसे शुरू हुआ फिल्मी सफर

नसीर ने वर्ष 1971 में अभिनेता बनने का सपना लिये दिल्ली नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा स्कूल में दाखिला लिया था। वर्ष 1975 में नसीरउद्दीन की मुलाकात प्रसिद्ध निर्माता और निर्देशक श्याम बेनेगल से हुई। श्याम बेनेगल उन दिनों अपनी फिल्म 'निशांत' बनाने की तैयारी में थे। श्याम बेनेगल को नसीरूद्दीन में एक उभरता हुआ सितारा दिखाई दिया और उन्होंने अपनी फिल्म में काम करने का अवसर दे दिया।

यह भी पढ़ें: Kabir Singh Box Office Collection Day 29: Shahid Kapoor ने चार हफ्तों में कर ली इतनी कमाई

Posted By: Rahul soni

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस