नई दिल्ली, जेएनएन। Happy Birthday Amitabh Bachchan: अमिताभ बच्चन के करियर की शुरुआत साल 1969 में आई सात हिन्दुस्तानी से हुई। इसके बाद उन्हें कुछ ख़ास काम नहीं मिल रहा था। उनका करियर डगमागा रहा था। इसी बीच साल 1972 में महमूद की फ़िल्म 'बॉम्ब टू गोवा' आई। जिसके बाद से वह बतौर हीरो खुद को स्थापित करने में सफल हुए। लेकिन क्या आपको पता है, यह फ़िल्म अमिताभ से पहले राजीव गांधी को ऑफ़र हुई थी। जी हां, महमूद ने अमिताभ से पहले राजीव को यह फ़िल्म ऑफ़र की गई थी।

द हिंदू में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, यह फ़िल्म पहले राजीव गांधी को ऑफ़र की गई थी। उस वक्त राजीव गांधी ने राजनीति में कदम नहीं रखा था। राजीव ने इस ऑफ़र को ठुकरा दिया। इसके पीछे उनके निजी कारण थे। इसके अलावा इस प्रसंग का जिक्र हनीफ जावेरी की किताब 'अ मैन ऑफ़ मैनी मूड्स' में भी किया गया है। इसमें लिखा गया है कि महमूद ने नशे में इस फ़िल्म का ऑफ़र राजीव को दिया था। जबकि राजीव उस वक्त अमिताभ की मदद के लिए ही महबूब के पास गए थे। महबूब ने उल्टा राजीव को ही फ़िल्म ऑफ़र कर दी। यह बात उस वक्त की है जब अमिताभ और राजीव दोस्त थे।

'बॉम्बे टू गोवा 'अपने समय की हिट फ़िल्म थी। बाद में इसके कई रीमेक भी बनाए गए। साउथ के अलावा हिंदी सिनेमा में विजय राज और राजू श्रीवास्तव जैसे एक्टर्स से सजी इसी नाम की एक और फ़िल्म साल 2007 में आई थी। हालांकि, वह दर्शकों को खास पसंद नहीं आई।

इसके अलावा अमिताभ को 'शोले' फ़िल्म भी कुछ ऐसी ही ऑफ़र हुई थी। वीरू के किरदार को देवानंद जैसे एक्टर के ठुकराने के बाद धर्मेंद को मौका मिला। अब बारी थी जय की। धर्मेंद ने ही इस किरदार के लिए अमिताभ का नाम सुझाया था। इसके बाद 'शोले' भी अमिताभ के करियर के लिए काफी शानदार फ़िल्म साबित हुई। उन्हें आज भी इस फ़िल्म के लिए याद किया जाता है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस