अनुप्रिया वर्मा, मुंबई। विद्या बालन की फिल्म तुम्हारी सुलु ज़ल्द ही रिलीज़ होने वाली है। इस फिल्म में विद्या एक मिडिल क्लास घरेलू महिला के किरदार में हैं, जिसके अपने सपने होते हैं लेकिन विद्या कहती हैं कि रियल लाइफ में भी वह अब भी अपने घर में ऐसे कई काम करती हैं, जो पहले भी किया करती थीं।

विद्या ने एक बातचीत में कहा "मैं मिडिल क्लास फ़ैमिली से हूं और आज भी मेरे अंदर मध्यम वर्ग परिवार के वैल्यूज़ हैं, जो कि मैंने खासतौर से अपने पेरेंट्स से लिए हैं। माँ से। मुझे याद है कि मां हमेशा इस बात का ख्याल रखती थीं कि घर में जब सभी खाना खा लें तो कितना खाना बचा है। किसने खाया है। किसने नहीं। बचे हुए खाने का क्या करना है? विद्या ने यह भी कहा कि उन्हें खाने की बर्बादी से बिल्कुल नफ़रत है। मैं तो सबके खाने के बाद जरूर यह देखती हूं कि जो बचा है उसका क्या करना है, बचा कर रखना है क्या अगले दिन के लिए। चूंकि बचपन से मां को ऐसा करते देखा है। यही बात मैं सिद्धार्थ(पति) से भी कहती हूं। सिद्धार्थ और मैं बिजली की बचत को लेकर भी बात करते हैं। मैं इस बात का ध्यान रखती हूं कि अगर घर में जरूरत नहीं है तो टीवी का भी स्विच न हो। इस तरह की चीजों से मुझे ऐसा लगता कि हम बर्बादी को रोक सकते हैं।

यह भी पढ़ें:दिल्ली की धुंध-धुएं से बेहाल मुंबईया फिल्मी सितारे, बताई अपनी परेशानी

विद्या आगे कहती हैं कि उन्हें लगता है कि सुलु का किरदार उनसे काफी मेल खाता है। लंबे समय से वह सीरियस किरदार निभा रही थीं जबकि सुलु आसानी से मुस्कुराती हैं और हंसती है। विद्या भी रियल लाइफ में ऐसी ही है। इस फिल्म की शूटिंग के दौरान भी वह हमेशा हंसती थीं। इसके अलावा विद्या को लगता है कि जिस तरह सुलु कहती रहती है कि वह कुछ भी कर सकती है, विद्या भी रियल लाइफ में कभी हार नहीं मानती हैं।

Posted By: Manoj Khadilkar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप