मुंबई। मशहूर पाकिस्तानी अभिनेत्री वीना मलिक, उनके पति और पाकिस्तान के बड़े मीडिया समूह जियो टीवी के मालिक को ईशनिंदा के अपराध में 26 साल की जेल की सजा सुनाई गई है। ये सजा पाकिस्तान के एंटी टेररिज्म कोर्ट (एटीसी) ने ईशनिंदा करने वाले एक कार्यक्रम को टीवी पर प्रसारित करने के चलते सुनाई है।

जियो टीवी और जंग समूह के मालिक मीर शकील-उर-रहमान पर आरोप थे कि उन्होंने मई में जियो टीवी पर प्रसारित एक कार्यक्रम में वीना मलिक और बशीर की नाटकीय शादी के दौरान एक धार्मिक गीत चलाने की अनुमति दी। जज शाहबाज खान ने वीना मलिक और बशीर के साथ-साथ प्रोग्राम की होस्ट शाइस्ता वहीदी को भी 26 साल की सजा सुनाई है। एटीसी ने दोषियों पर 13 लाख पाकिस्तानी रुपए का जुर्माना भी लगाया है।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अपने आदेश में जज ने कहा कि चारों आरोपियों ने पवित्र चीजों का अनादर किया है और पुलिस को इन्हें अरेस्ट कर लेना चाहिए। हालांकि इस मामले में खास बात यह है कि कोर्ट के इस आदेश को लागू नहीं किया जा सकेगा क्योंकि गिलगित-बालतिस्तान को पाकिस्तान में पूर्ण प्रांत का दर्जा प्राप्त नहीं है। यानी यहां के कोर्ट के आदेश पाकिस्तान के दूसरे हिस्सों में लागू नहीं होते हैं।

हालिया मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोर्ट द्वारा दोषी ठहराए गए चारों लोग पाकिस्तान से बाहर हैं। रहमान यूएई में रहते हैं और अन्य तीन आतंकी धमकी के चलते विदेश में रह रहे हैं। हालांकि वहीदी और जियो समूह इस मामले में माफी भी मांग चुका है लेकिन कट्टरपंथी इसे स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं है।

पढ़ेंः मां बनीं वीना मलिक, बेटे का नाम रखा अबराम

पढ़ेंः ये क्या, शादी से पहले प्रेग्नेंट थीं वीना मलिक?

Posted By: Monika Sharma