नई दिल्ली, जेएनएन। कंगना रनोट की फ़िल्म थलाइवी तमिलनाडु की कद्दावर राजनेता और दिग्गज अदाकारा जे जयललिता के जीवन और करियर के कई अहम पड़ावों को रेखांकित करती है। यह बायोपिक जयललिता से जुड़ी कई दिलचस्प बातों को सामने लाएगी, जिनके बारे में कम ही लोगों को जानकारी है। ऐसी ही एक जानकारी का सीधा संबंध कल रिलीज़ हो रहे थलाइवी के पहले गाने चली चली से है। 

शूटिंग के लिए 24 घंटे पानी में रही कंगना

गुरुवार को मेकर्स ने चली चली गाने का टीज़र जारी किया, जिसमें कंगना यंग जयललिता के अंदाज़ में पानी में अठखेलियां करती नज़र आ रही हैं। चली चली गाना एक पूल में फ़िल्माया गया है, जिसकी शूटिंग के लिए कंगना ने पानी में 24 घंटे बिताये। गाने के टीजर में इसकी झलक साफ नज़र आ रही हैं। गाना जयललिता के करियर के शुरुआती दौर को दिखाता है, इसलिए कंगना ने अपने हाव-भाव मे एक उभरती हुई अदाकारा को उतारने की कोशिश की है। 

गाने की शूटिंग स्टूडियो फॉर्मेट में की गई है, जैसा कि उस दौर की फ़िल्मों में होता था। फ़िल्म का अधिकांश हिस्सा स्टूडियो में ही फ़िल्माया जाता था। चली-चली गाने में वही फील नज़र आएगा। गाने की शूटिंग 3 दिन तक चली थी और जयललिता के हर पहलू को कैप्चर किया गया है। संगीत जीवी प्रकाश कुमार ने दिया है और आवाज़ सैनधवी की है। 

जयललिता के डेब्यू को प्रदर्शित करेगा चली-चली गाना 

इस गाने का संबंध जयललिता की डेब्यू फ़िल्म वेणीरा अड़ाई से है, जो 1965 में आयी थी। यह एक एडल्ट फ़िल्म थी, जिसकी वजह से रिलीज़ के समय ख़ुद जयललिता अपनी पहली फ़िल्म नहीं देख  की थीं। उस वक़्त उनकी उम्र 18 साल से भी कम थी। थलाइवी का निर्देशन एएल विजय ने किया है। विष्णु वर्धन इंदूरी और शैलेश आर सिंह ने इसे प्रोड्यूस किया है, जबकि को-प्रोड्यूसर के रूप में हितेश ठक्कर और तिरुमल रेड्डी जुड़े हैं। थलाइवी 23 अप्रैल को तमिल, तेलुगु और हिंदी भाषा में रिलीज़ की जा रही है।

Edited By: Manoj Vashisth