नई दिल्ली, जेएनएन।  बॉलीवुड एक्टर संजय मिश्रा की अपकमिंग फ़िल्म 'कामयाब' 6 मार्च को रिलीज़ हो रही है। इस फ़िल्म में बॉलीवुड की दुनिया में सह कलाकरों के जीवन के बारे में दिखाया गया है। फ़िल्म काफी कम बजट में बनाई गई है। इसे शाह रुख़ ख़ान की प्रोडक्शन कंपनी रेडचिलीज़ का भी सपोर्ट है। सह कलाकारों के संघर्ष को दिखाने के लिए फ़िल्म संजय मिश्रा और दीपक डोबरियाल जैसे कई साइड एक्टर्स को कास्ट किया गया है। 

इस फ़िल्म के बजट को लेकर अब संजय मिश्रा का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि फ़िल्म का बजट किसी वैनिटी वैन की कीमत से कम है। उन्होंने मुंबई मिरर से बात करते हुए कहा, 'ना मैं और ना ही प्रड्यूसर मनीष मुंद्रा उनके इस फ़िल्म पर सेट होने का सपना देखा था। कई एक्टर्स इस छोटी-सी फ़िल्म को सपोर्ट करने के लिए आगे आए। कामयाब का बजट किसी बड़ी बजट वाली फ़िल्म के सेट पर पार्क की गई वैनिटी की कीमत से कम है।' वहीं, इस फ़िल्म के सपोर्ट के लेकर उन्होंने शाहरुख़ ख़ान को भी शुक्रिया कहा। उन्होंने कहा, 'शाहरुख लोगों के दिलों में रहते हैं।' 

संजय मिश्रा ने 'कामायब' में अपने किरादर के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि फ़िल्म में उनका किरदार एक बुरा एक्टर है। हालांकि, असल ज़िंदगी में वे वैसे नहीं हैं। अपने फ़िल्मी करियर के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि अभी बहुत कुछ करना बाकि है। मैं इमानदारी से जीता हूं और अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देने की कोशिश करता हूं। मेरा मानना है कि मेरे लिए गेम चेंजिंग फिल्म बननी बाकी है। 

आपको बता दें कि संजय मिश्रा ने 90 के दशक में टीवी के साथ अपने करियर की शुरुआत की। इसके बाद उन्होंने कई शानदार किरदार निभाए। 'आंखो देखी' में एक्टिंग के लिए उन्होंने कई अवॉर्ड भी मिले। 'कामयाब' के बाद वह 'कांचली' में नजर आने वाले हैं। यह फ़िल्म भी इस साल रिलीज़ होने वाली है। 

Posted By: Rajat Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस