Move to Jagran APP

Ravi Kishan: 'रात को कॉफी पर बुलाया...', भोजपुरी फिल्म एक्टर रवि किशन ने खोली कास्टिंग काउच की पोल

Ravi Kishan भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार अभिनेता रवि किशन आज ग्लैमर की दुनिया का बहुत बड़ा नाम बन चुके हैं। नसीर फिल्म इंडस्ट्री बल्कि राजनीतिक क्षेत्र में भी उनकी अच्छी पैठ है। हाल ही में उन्होंने अपने शुरुआती संघर्ष के दिनों का खुलासा किया।

By Karishma LalwaniEdited By: Karishma LalwaniMon, 27 Mar 2023 04:30 PM (IST)
File Photo of Ravi Kishan. Photo Credit: Instagram

नई दिल्ली, जेएनएन। फिल्म इंडस्ट्री के जाने-माने अभिनेता रवि किशन को आज भला कौन नहीं जानता। उन्होंने न सिर्फ हिंदी और भोजपुरी फिल्मों में काम किया है, बल्कि रीजनल सिनेमा के अन्य दायरे में भी अपने पंख फैला चुके हैं। हालांकि, रवि किशन के लिए फिल्म इंडस्ट्री में खुद को स्थापित करना आसान बात नहीं थी। हाल ही में उन्होंने एक चैनल को दिए इंटरव्यू में अपने शुरुआती संघर्ष के दिनों पर बात की।

रवि किशन ने शेयर किया कास्टिंग काउच का अनुभव

रवि किशन ने इंडस्ट्री में मौजूद कास्टिंग काउच पर बात की। उन्होंने अपने एक्सपीरियंस को शेयर करते हुए बताया, " हां यह हुआ है, और यह कुछ ऐसा है, जिससे मैं बच निकलने में कामयाब रहा।" उन्होंने कहा कि उनके पिता से उन्हें ईमानदारी से काम करने की सीख मिली है। सफलता पाने के लिए उन्होंने कभी भी शॉर्टकट का रास्ता नहीं अपनाया।

'मैं उनका नाम नहीं ले सकता'

रवि किशन ने कहा कि एक बार उन्हें एक महिला ने घर पर कॉफी पीने के लिए बुलाया था। उन्हें लगा था कि यह दिन में पी जाने वाली नार्मल कॉफी जैसा न्योता है। मगर जब उन्हें इशारा मिला, तो उन्होंने आने से मना कर दिया। हालांकि, वह महिला कौन थी उनका नाम उजागर करने से रवि किशन ने मना कर दिया। एक्टर ने कहा, "मैं उनका नाम नहीं ले सकता क्योंकि अब वह एक बड़ी हस्ती बन गई हैं।"

(Photo Credit: Ravi Kishan Instagram)

इस तरह आया अभिनेता बनने का ख्याल

इसी शो में रवि किशन ने इस बात से भी पर्दा उठाया कि आखिर उन्होंने अभिनेता बनना ही क्यों चुना। उन्होंने कहा, "मैंने पिता के पास फटी हुई धोती देखी थी। मां के पास उन्होंने नई साड़ी नहीं देखी थी। तो मुझे ऐसा लगा था की इनके लिए नया घर लेना है। मां के लिए एक साड़ी लेनी है और पिताजी को एक अच्छी धोती दिलाएं।"

'मुझे अपने परिवार को अच्छा जीवन देना था'

अभिनेता से सांसद बने रवि किशन ने यह भी बताया कि वह अपने परिवार को अच्छा जीवन देना चाहते थे। इसके लिए वह कुछ भी करने को तैयार थे। उन्होंने कहा, "मुझे लगता था यह मेरे भगवान हैं। मैंने भगवान तो देखा नहीं तो यह मेरे भगवान हैं।"

बता दें कि रवि किशन को आखिरी बार ओटीटी प्लेटफॉप्म 'खाकी: द बिहार चैप्टर' में देखा गया था। इससे पहले उन्होंने 'लव यू लोकतंत्र' में काम किया था। उनकी हिट फिल्मों में 'मुक्काबाज', 'तेरे नाम' और 'एजेंट विनोद' जैसी फिल्में शामिल हैं।