नई दिल्ली, जेएनएन। शुक्रवार को गुरुनानक जयंती के पावन पर्व पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बेहद अहम कदम उठाते हुए तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा की। देश के कई हिस्सों में कई महीनों से इसको लेकर विरोध-प्रदर्शन किये जा रहे थे। पीएम मोदी की अचानक की गयी इस घोषणा ने देशवासियों को हैरत में डाल दिया और प्रतिक्रियाओं का सिलसिला शुरू हो गया।

यह एक ऐसा मुद्दा था, जिस पर कई बॉलीवुड सेलेब्रिटीज भी लगातार अपनी राय रख रहे थे और सोशल मीडिया के जरिए इसके पक्ष या विपक्ष में बातें कर रहे थे। अब कृषि कानूनों की वापसी के फैसले की कुछ सेलेब्स आलोचना की है तो बहुत सारे इसका स्वागत कर रहे हैं। 

हाल ही में पद्मश्री सम्मान पाने वाली एक्ट्रेस कंगना रनोट इन दिनों अपने भीख में आजादी वाले बयान और महात्मा गांधी की आलोचना करने के लिए खबरों में हैं। अब कंगना ने कृषि कानूनों की वापसी पर अपनी राय जाहिर करते हुए इसे दुखद और शर्मनाक बताया है।

कंगना ने एक ट्वीट को स्टोरी में शामिल किया, जिसमें लिखा गया कि स्ट्रीट पॉवर ही असली पॉवर है। यह साबित हो गया है। कंगना ने इसके जवाब में लिखा- दुखद, शर्मनाक और एकदम सही नहीं। अगर चुनी हुई संसद के बजाए लोगों ने सड़क पर कानून बनाना शुरू कर दिया तो यह भी जिहादी राष्ट्र ही हुआ। कंगना ने तंजिया लहजे में लिखा, जो ऐसा चाहते हैं, उन सभी को शुभकामनाएं।

वहीं, सोनू सूद ने कृषि कानूनों की वापसी पर खुशी जताते हुए पीएम मोदी का आभार व्यक्त किया। सोनू ने लिखा- किसान वापस अपने खेतों में आएंगे। देश के खेत फिर से लहराएंगे। धन्यवाद नरेंद्र मोदी जी, इस ऐतिहासिक फैसले से किसानों का प्रकाश परब और भी ऐतिहासिक हो गया।

तापसी पन्नू ने कानून वापसी की खबर को साझा करते हुए लिखा- साथ में, गुरु परब की सभी को बधाइयां। निर्देशक हंसल मेहता ने ट्वीट किया- आइए, किसानों की लगन और धैर्य का आज जश्न मनाएं।

निर्देशक अश्विनी चौधरी ने लिखा- सूरा सो पहचानिए जो लरे दीन के हेत। पुरजा-पुरजा कट मरे कबहूं ना छोड़े खेत।

Edited By: Manoj Vashisth