नई दिल्ली, जेएनएन। कोरोना वायरस की जंग में हर राज्य सरकार अतिरिक्त फंड के जरिए इस पर रोक लगाने की कोशिश कर रही है। इसी बीच मध्य प्रदेश सरकार ने भी प्रदेश में होने वाले आइफा इवेंट को अलॉट किए गए पैसे फिर से सीएम फंड में ट्रांसफर कर लिए हैं। अब इस फंड को कोरोना वायरस की रोकथाम में काम में लिया जाएगा। पहले मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व वाली सरकार ने आइफा के लिए इसका अलॉटमेंट किया था और अब शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली राज्य सरकार ने इसे फिर से सीएम फंड में ट्रांसफर करने का फैसला किया है।

मुख्यमंत्री ऑफिस के आधिकारिक ट्वीट में इसकी जानकारी दी गई है। ट्वीट में लिखा है- ' मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में आइफा का आयोजन होने वाला था। वर्तमान में COVID 19 संकट के चलते यदि आइफा पर व्यय होने वाली राशि कोरोना सहायता के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में दी जाती है, तो उससे बड़ी संख्या में जनता को सहायता दी जा सकती है।' शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंस में पैसे ट्रांसफर करने की बात कही है।

बता दें कि मुख्यमंत्री बनने से पहले भी शिवराज सिंह चौहान मध्यप्रदेश में होने वाले इस मेगाइवेंट का विरोध कर चुके हैं। उन्होंने फरवरी में कहा था, 'मध्यप्रदेश में तबाही मची है, प्रशासनिक अराजकता है। जनकल्याण और विकास के लिए पैसा नहीं है, लेकिन आईफा आईफा करने में सरकार लगी हुई है। ऐसी तबाह करने वाली सरकार की किसी ने कल्पना नहीं की थी। बस योजनाएं बंद करने का काम सरकार कर रही है। जनता भी तबाह और प्रदेश भी तबाह!'

कब होना था इवेंट?

दरअसल, मार्च में आईफा 2020 का आयोजन मध्य प्रदेश के इंदौर में होना था, हालांकि अभी यह कार्यक्रम रद्द हो चुका है। जब प्रदेश में कमलनाथ सरकार थी, जब सरकार ने इस इवेंट को काफी प्रमोट किया था और इस इवेंट के लिए मेगा प्लान भी बनाया था। बता दें कि यह एक अवॉर्ड शो है, जिसमें बॉलीवुड जगत की कई हस्तियां इसमें पहुंचती हैं और परफॉर्म भी करती हैं।

Posted By: Mohit Pareek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस