अनुप्रिया वर्मा, मुंबई. फिल्म दिलवाले दुल्हनियां ले जायेंगे ने हिंदी सिनेमा के इतिहास में कई रिकॉर्ड्स तोड़े हैं. यह फिल्म हिंदी सिनेमा के इतिहास में सबसे लंबे समय तक मुंबई के मराठा मंदिर थियेटर में दिखाई गई. इस फिल्म में जहां सिमरन और राज के किरदार को तो दर्शकों ने बेहद पसंद किया ही. इस फिल्म के किरदारों को भी दर्शकों ने खासतौर से पसंद किया हो.

याद हो कि फिल्म में अनुपम खेर के किरदार के साथ काजोल की बुआ का किरदार निभाने वाली हिमानी शिवपुरी ने कम्मो बुआ का किरदार निभाया था और फिल्म में उनकी काफी अच्छी मजेदार लव स्टोरी एंगल दिखाया गया था. लेकिन कुछ सीन्स के बाद फिल्म के क्लाइमेक्स से वह किरदार ही गायब हो जाता है, जबकि फिल्म के निर्माता ने कम्मो और अनुपम खेर के बीच के दृश्यों को और दिलचस्प तरीके से फिल्माने का मन बनाया था. क्लाइमेक्स से यह किरदार यूं ही गायब नहीं हुआ था.

इतने सालों के बाद अब जाकर यह राज़ खुद हिमानी शिवपुरी ने खोला है. हिमानी ने हाल ही में जागरण डॉट कॉम से बातचीत में कहा कि उस वक़्त उनका किरदार यूं ही फिल्म से गायब नहीं किया गया था, बल्कि उस वक़्त उन पर दुखों का पहाड़ गिरा था. उनके पति का देहांत हो गया था, जब हिमानी फिल्म की शूटिंग कर रही थीं. ऐसे में वह परेशान थीं कि अब वह अपनी शूटिंग कैसे पूरी करेंगी. तब उन्होंने यश चोपड़ा की पत्नी पामेला चोपड़ा को फोन किया.

पामेला ने उन्हें कहा कि बिल्कुल फ़िक्र न करें और अपना और परिवार का ख्याल रखें. वह सब कुछ हैंडल कर लेंगी. हिमानी कहती हैं कि उनका यह व्यवहार उनके दिल को छू गया था. हिमानी कहती हैं कि वह मेरी जिंदगी का सबसे बड़ा दुःख था और ऐसे में मुझे पूरी फिल्म इंडस्ट्री का सपोर्ट मिला था. यही मेरे लिए बड़ी बात है. हिमानी ने कहा कि यह फिल्म उनके दिल के हमेशा करीब रहेगी.

यह भी पढ़ें: Box Office: 5 दिनों में टोटल धमाल ने इतनी कमाई कर ली, 100 करोड़ अब...

Posted By: Manoj Khadilkar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस