अनुप्रिया वर्मा, मुंबई। धर्मेंद्र इन दिनों अपनी फिल्म यमला पगला दीवाना फिर से के प्रमोशन में व्यस्त हैं। इसी दौरान उन्होंने अपनी बातचीत में कहा कि सिनेमा का हर दौर अच्छा रहा है। मुझे लब्ज-ए- फिल्म से मोहब्बत है।फिल्मी दुनिया से प्यार है।

धर्मेंद्र कहते हैं कि हाल ही में मैंने संजू देखी और मैं रणबीर कपूर का काम देख कर हैरान हो गया था। वही दूसरी तरफ जब मैंने रणवीर सिंह की पद्मावत देखी तो मैंने उन्हें खड़े होकर सैल्यूट किया थियेटर में ही। ये स्टार्स बहुत रियलिस्टिक काम कर रहे हैं। आमिर की फिल्म दंगल देख कर मैं रोने लगा था। ये लोग कितना अच्छा काम कर रहे हैं। धर्मेंद्र कहते हैं कि अभी मेरा दौर खत्म नहीं हुआ है। मुझे अभी बहुत काम करना है। यह पूछे जाने पर कि उस दौर की क्या चीजें मिस करते हैं। जवाब देते हुए धर्मेंद्र कहते हैं कि मैं उस दौर के लोगों, माहौल को, कलिग्स को, दोस्तों को मिस करता हूं। हम लोग शाम में सेट पर काम करने के बाद भजिया पार्टी करते थे। जलेबी खाया करते थे। धर्मेंद्र कहते हैं कि मैं जिन फिल्मों के साथ भी शूटिंग किया करता था, मेरा स्वभाव था कि मेरे साथ काम करने वाले हर बच्चे खुश हो जाते थे। काम करने वाला हर शख्स खुश था। सबको लगता था कि सेट पर फेस्टिवल होता है। मैं हर किसी से मिल-जुल कर रहता था। मैं मीडिल क्लास फैमिली से आया हूं तो मुझे खुशनुमा माहौल ही अच्छा लगा करता था। मेरे सेट पर कुछ लोगों के घर से खाना आता था तो मैं उसको खाता था, मुझे लगता था कि मेरी मां जैसा खाना बनाती है, वैसा खाना खा रहा हूं। वो टेस्ट होता था। हम एक दूसरे के साथ खड़े होते थे। मैंने अपने आपको कभी बदला नहीं है और न ही बदलने की कोशिश करना भी चाहता हूं।

धर्मेंद्र कहते हैं कि एक्टिंग रियेक्शन है। एक जज्बाती इंसान के लिए काफी आसान होता है। मैं जब शुरू-शुरू में आया तो लोगों ने कहा कि मैं अंडर प्ले कर रहा हूं तो उस वक्त मुझे पता नहीं था कि अंडरप्ले क्या होता है। चूंकि मैंने कभी एक्टिंग की कोई ट्रेनिंग नहीं ली है। बंदिनी में या किसी भी फिल्म में, एक इमोशनल आदमी का रियेकशन फास्ट होता है। तो इंसान के रूप में मैं हंसमुख हूं। ह्यूमरस हूं। रोमांटिक हूं। इमोशनल हूं तो आॅन स्क्रीन मेरे लिए यह काफी आसान रहा है। मैं भगवान नहीं हूं। लेकिन मैं काम करता रहा हूं।

अच्छे डायरेक्टर्स मिलते गए

धर्मेंद्र कहते हैं कि मेरी फिल्मों में अच्छे डायरेक्टर्स मिलते रहे, इसलिए भी मैं अच्छा काम करते गया। स्टोरीज और स्क्रीनप्ले अच्छा मिल जाये तो आप अच्छा काम कर लेते हैं। धर्मेंद्र अपनी पहली अभिनेत्री तरला मेहता के बारे में कहते हैं कि मैं न्यूकमर था, तो दोनों एक दूसरे को कहते रहते थे कि हमें अच्छे से करना है। उस वक्त लोग न्यू कमर को अच्छी तरह से लेते नहीं थे। तो हम लोग दुखी रहते थे और एक दूसरे को कहते थे कि हमें अच्छी तरह से काम करना है। धर्मेंद्र की फिल्म यमला पगला दीवाना 31 अगस्त को रिलीज होने जा रही है। 

यह भी पढ़ें: निक की होने वाली दुल्हनिया को अब मिलेगा सुपरहीरो का साथ, ऐसी है ये बात

यह भी पढ़ें: Teaser: अखंड भारत के पहले बाग़ी की कहानी, आ रहा है एक और बाहुबली

Posted By: Rahul soni

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस