नई दिल्ली, जेएनएनl फिल्म क्रिटिक्स गिल्ड की चेयरपर्सन अनुपमा चोपड़ा ने क्रिटिक्स च्वाइस फिल्म अवार्ड्स (CCFA) के अगले संस्करण की घोषणा की। वरिष्ठ पत्रकार और फिल्म समीक्षक ने एक पुरस्कारों के दूसरे संस्करण को लेकर अपनी एक्साइटमेंट भी जताई।

पिछले साल क्रिटिक्स चॉइस शॉर्ट फिल्म अवार्ड्स, क्रिटिक्स चॉइस शॉर्ट्स एंड सीरीज़ अवार्ड्स और क्रिटिक्स च्वाइस फ़िल्म अवार्ड्स के दो संस्करणों की सफलता के बाद, विस्टा मीडिया कैपिटल के सहयोग से फ़िल्म क्रिटिक्स गिल्ड और मोशन कंटेंट ग्रुप के दूसरे संस्करण के लिए फिर से शामिल किया गया। न केवल हिंदी फीचर फिल्म्स बल्कि भारत में फैली स्थानीय भाषाओं की सिनेमाई प्रतिभा को सम्मानित करने के लिए भी इन पुरस्कारों का वितरण किया जाएगा।

देश भर के फिल्म समीक्षकों की टीम सर्वश्रेष्ठ फिल्मों को सम्मानित करने के लिए इकट्ठा हुई है जो अपनी प्रभावशाली और प्रभाव छोड़ने वाले फिल्मों के साथ खड़ी है। हिंदी, मराठी, गुजराती, बंगाली, तेलुगु, तमिल, मलयालम और कन्नड़ जैसी कई भाषाओं में सराहना करने के लिए आलोचकों की बड़ी टीम पूरी तरह से तैयार है।

पुरस्कारों के पहले संस्करणों की सफलता से उत्साहित अनुपमा चोपड़ा ने क्रिटिक्स च्वाइस अवार्ड्स के इस संस्करण की घोषणा करते हुए कहा, ‘हम क्रिटिक्स के दूसरे संस्करण के साथ फिर से लौट रहे हैं। मुझे खुशी है कि फिल्म अवार्ड्स सभी प्रतिभाशाली लोगों को दिया जाएगा। पिछली बार की तरह हम इसे हिंदी सिनेमा तक सीमित नहीं रखना चाहते हैं इसलिए गिल्ड पूरे विश्व भर में पुरस्कार देगा।’

अनुपमा चोपड़ा ने कहा, ‘यह हमारे लिए एक रोमांचक महीना रहा है लेकिन सबसे अच्छा समय अभी आना बाकी है, इसलिए तैयार रहें।’ पिछले साल तमिल में ‘पेरियेरुम पेरुमल’, मलयालम में ‘ई.मा.वाय.वाय’, गुजराती में 'रेवा', तेलुगु में 'C / o कंचनपालम', मराठी में 'लट्ठे जोशी', कन्नड़ में 'ओंडला एराडल्ला' और बंगाल में 'पुपा', जैसी फिल्मों को सम्मानित किया गया था। सभी इस अवार्ड्स को लेकर बहुत उत्साहित हैंl

Bigg Boss

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस