नई दिल्ली, जेएनएन। ड्रग्स केस में नाम आने के बाद से शाह रुख खान के बेटे आर्यन विवादों में हैं। बीते दिनों एनसीबी ने उन्हें क्रूज पर चल रही एक रेव पार्टी से गिरफ्तार किया था। इसके बाद से आर्यन खान और शाह रुख खान सुर्खियों में बने हुए हैं। किंग खान के बेटे का ड्रग्स केस में नाम आने के बाद बॉलीवुड के बहुत से सितारे और देश की हस्तियां अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। अब इस मामले पर मशहूर फिल्ममेकर राम गोपाल वर्मा ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

राम गोपाल वर्मा ने कहा है कि एनसीबी आर्यन खान को सुपर-डुपर हिट बना रही है। यह बात फिल्ममेकर ने सोशल मीडिया के जरिए कही है। राम गोपाल वर्मा सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहते हैं। वह कई मुद्दों पर अपनी बेबाकी से भी प्रतिक्रिया भी देते रहते हैं। राम गोपाल वर्मा ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के जरिए शाह रुख खान के बेटे आर्यन के ड्रग्स केस पर प्रतिक्रिया दी है।

राम गोपाल वर्मा ने अपने ट्वीट में लिखा, 'शाह रुख खान के सभी सच्चे और बुद्धिमान फैंस को अपने सुपर स्टार के बेटे को सुपर डुपर स्टार बनाने के लिए महान एनसीबी को धन्यवाद देना चाहिए। असली फैंस को सिर्फ जय एनसीबी चिल्लाना चाहता हूं।' वहीं राम गोपाल वर्मा ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा, 'शाह रुख खान ने अपने बेटे को सिर्फ एक सुपर स्टार बनाया, लेकिन एनसीबी उन्हें अपने पिता द्वारा नियंत्रित जीवन के दूसरे पक्ष को दिखाकर एक सुपर सेंसिटिव अभिनेता बना दिया है जिससे वह अपने परफॉर्मेंस और व्यक्तित्व को शानदार बनाने के लिए जमीनी वास्तविकताओं को समझ सकेंगे।'

सोशल मीडिया पर राम गोपाल वर्मा के यह दोनों ट्वीट तेजी से वायरल हो रहा है। उनके और शाह रुख खान के फैंस ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। आपको बता दें कि आर्यन को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने 2 अक्टूबर को मुंबई से गोवा जा रहे एक क्रूज से रेव पार्टी करते हुए हिरासत में लिया था। इसके बाद 3 अक्टूबर को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था।

आर्यन के साथ उनके दो और साथी अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा भी गिरफ्तार किया गया है। आर्यन के केस में अब तक कई बार जमानत अर्जी दायर की जा चुकी है, लेकिन हर बार उनकी अर्जी खारिज हो जाती है। 7 अक्टूबर को मजिस्ट्रेट कोर्ट ने आर्यन की जमानत अर्जी खारिज करते हुए 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। 11 अक्टूबर को आर्यन की जमानत के लिए विशेष एनडीपीएस कोर्ट में अर्जी दाखिल की गयी थी, जिस पर एनसीबी ने जवाब देने के लिए कोर्ट से समय मांगा था। इसके बाद 13 अक्टूबर को इस केस में फिर सुनवाई हुई जिसे 14 अक्टूबर तक के लिए टाल दिया गया। 

Edited By: Anand Kashyap