मुंबई। आमतौर पर फिल्मों के फ्लॉप होने के बाद निर्माता सिर पकड़ लेते हैं। हालत और कभी-कभी हालात ख़राब हो जाते हैं लेकिन लगता है अर्जुन रामपाल को हाल की दो फिल्मों के फ्लॉप होने का ऐसा झटका लगा है कि वो मेडिटेशन के लिए देश से बाहर चले गए हैं।

ये 'अर्जुन ' की आत्मशुध्दि का मार्ग है। गांडीवधारी का तीर असल में निशाने पर नहीं लगा है। हाल में आई उनकी दो बैक-टू-बैक फिल्में कमाई से कोसों दूर निकल गईं और इसीलिए अर्जुन रामपाल ज़माने से कुछ समय के लिए नाता तोड़ कर मैक्सिको चले गए हैं। एक फिल्मी वेबसाइट से बात करते हुए अर्जुन ने बताया - " हां , ये बात सही है। मैं देश के बाहर हूं। दस दिनों के लिए मेडिटेशन करने निकल आया हूं। ना कोई बोझ , ना किसी से बातचीत , ना परिवार और ना दोस्त। बस मैं और मेरी तन्हाई और मेरा चिंतन।" अर्जुन के मुताबिक कभी कभी आदमी को अपने बिखरे हुए विचारों को जोड़ कर रखने के लिए ऐसा करना पड़ता है। किसी से कोई शिकायत नहीं है। जैसी लाइफ सोची थी वैसी ही चल रही है।

'लंदन ' की इस फिल्म के लिए अजय देवगन को जाना होगा अमरीका !

अर्जुन रामपाल का ये विचार-चिंतन , मनन और मंथन , रॉक ऑन -2 और कहानी -2 के फ्लॉप होने के बाद का है या पहले का ये तो पता नहीं लेकिन अर्जुन को जो असीम ज्ञान प्राप्त हुआ है उसके मुताबिक फिल्म भले ही बॉक्स ऑफिस पर ना चले या क्रिटिक्स से खराब रिव्यू मिले लेकिन वो उनके लिए काम नहीं करते। जो करते हैं उस पर उन्हें पूरा विश्वास होता है।

Posted By: Manoj Khadilkar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप