कोलकाता, जेएनएन। फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी की पार्टी इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आइएसएफ) ने 20 विधानसभा सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है। आइएसएफ ने अपनी धर्मनिरपेक्ष छवि दर्शाने के लिए 10 हिंदू चेहरों को टिकट दिया है। रायपुर से मिलन मांडी, महिषादल से विक्रम चट्टोपाध्याय, चंद्रकोना से गौरांग दास, मंदिरबाजार से डॉ. संचय सरकार, हरिपाल से सिमल सोरेन, राणाघाट उत्तर-पूर्व से दिनेश चंद्र विश्वास, कृष्णगंज से अनूप मंडल, चोपरा से कांचन मैत्र, संदेशखाली से वरुण महतो और अशोकनगर से तापस चक्रवर्ती को टिकट दिया गया है।

मुस्लिम चेहरों में कुल्पी से सिराजुद्दीन गाजी, जगतवल्लभपुर से एडवोकेट शेख शब्बीर अहमद, पांचला से मोहम्मद जलील, उलबेरिया पूर्व से अब्बासुद्दीन खान, खानाकुल से फैजल खान, मेटियाब्रुज से नुरज्जमान, इंटाली से प्रो. डॉ. मोहम्मद इकबाल आलम, बशीरहाट उत्तर से पीरजादा बाइजीन अमीन, आमडांगा से जमालुद्दीन और आसनसोल उत्तर से मोहम्मद मोस्ताकिम को टिकट दिया गया है। भांगड़ से अबतक आइएसएफ ने अपने उम्मीदवार के नाम की घोषणा नहीं की है। वहां से अब्बास सिद्दीकी के भाई व आइएसएफ के चेयरमैन नौशाद सिद्दीकी उम्मीदवार हो सकते हैं।

कांग्रेस-वामो गठबंधन से आइएसएफ को कुल 30 सीटें मिली थीं, जिनमें से चार के लिए वह उम्मीदवार ही नहीं तलाश पाई इसलिए 26 सीटों पर चुनाव लडऩे का फैसला किया है। गौरतलब है कि गठन के बाद से ही विरोधी दल आइएसएफ की धर्मनिरपेक्ष छवि पर सवाल उठाते आ रहे थे इसलिए अब्बास सिद्दीकी ने उम्मीदवारों का चयन करते वक्त इसका काफी ध्यान रखा।

Edited By: Neel Rajput