नई दिल्ली, एएनआइ। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया और पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत का दावा किया है।पश्चिम बंगाल के दासपुर में रक्षामंत्री ने एक जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा, 'ममता दीदी ने इन 10 वर्षों में पश्चिम बंगाल के विकास के लिए क्या किया? तबाही के अलावा दीदी ने कुछ नहीं किया। चारों तरफ हिंसा है, बड़ी संख्या में लोग मारे जा रहे हैं। मुख्यमंत्री की ज़िम्मेदारी होती है कि वो अपने राज्य में हिंसा को रोके।'  रक्षामंत्री ने कहा, 'पश्चिम बंगाल में 5 वर्ष के लिए भाजपा की सरकार बनाकर देखिए, किसी मां के लाल की हिम्मत नहीं है कि वो टोलाबाजी (वसूली) कर सके और कटमनी ले सके।'

किसानों से रक्षामंत्री ने किया ये वादा

एक अन्य जनसभा में रक्षा मंत्री ने कहा, ' जनता के लिए जो पैसा आता है उसका 15%-25% भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाता है। मैं ममता दीदी से पूछना चाहता हूं कि क्या कारण है कि आपके मंत्रियों और आपकी सरकार पर हमेशा भ्रष्टाचार के आरोप लगते हैं।'  उन्होंने कहा, 'हम लोगों ने हर किसान के खाते में 6000 रुपया भेजा। ममता दीदी ने ये पैसे देने के लिए हमें यहां के किसानों की लिस्ट नहीं दी। अगर यहां भाजपा की सरकार बनी तो आपका 6000 रुपया पहले का और आगे का पूरा आपके खाते में जाएगा।'

भाजपा को मिलेगा बहुमत

रक्षा मंत्री ने कहा, 'मैं ज्योतिष नहीं हूं लेकिन भाजपा को चुनाव में स्पष्ट बहुमत हासिल होगा इसेे लेकर मुझे पूरा विश्वास है।' उन्होंने कहा, 'मैं पूरी तरह से आश्वस्त हूं कि बंगाल में इस बार भाजपा स्पष्ट बहुमत से सरकार बनाने जा रही है। लोकसभा के चुनाव में बंगाल की जनता ने 42 में से 18 सीटों पर भाजपा को विजय दिलाकर ये साफ संकेत दे दिया है कि अब विधानसभा के चुनाव में परिवर्तन होगा।' उन्होंने आगे कहा, ममता दीदी को छोड़ किसी ने भी आरोप नहीं लगाए। जांच एजेंसियों व ऑब्जर्वर की रिपोर्टोंं के अनुसार, सुरक्षा मामलों में चूक की वजह से घटना हुई। उम्मीद है वो जल्द स्वस्थ हो जाएंगी।'

उन्होंने कहा, 'जांच एजेंसियों की रिपोर्ट से साफ है कि सुरक्षा में चूक की वजह से दुर्घटना हुई है। ये उनकी हताशा का ही परिणाम है कि उस चोट के लिए भाजपा को लांछित करने की कोशिश की जा रही है।' रक्षा मंत्री से सवाल किया गया कि बगैर मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के भाजपा को हार का खतरा हो सकता है इसपर उन्होंने कहा, 'हमारी पार्टी लोकतांत्रिक है, चुनकर आए विधायक अपने नेता का चुनाव करेंगे।'

ममता बनर्जी द्वारा लगाए गए आरोपों पर उन्होंने कहा, 'उनके आरोप कोई महत्व नहीं रखते। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हमने 2014 से सरकार का संचालन किया है। लोगों ने हमारा समर्थन किया। दूसरे कार्यकाल में हमें बड़ी संख्या में सीटें मिली। क्या हमने सरकार सही तरीके से नहीं चलाई, तब हमें 2019 के चुनाव में इस तरह का बहुमत नहीं मिलता।' 

बता दें कि पिछले सप्ताह नामांकन दाखिल करने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी चोटिल हो गई थी। अब वे व्हीलचेयर पर बैठकर चुनावी सभाओं को संबोधित कर रही हैं। इस घटना के लिए वे भाजपा पर चोट करने का कोई मौका नहीं छोड़ रही हैं। भाजपा पर हमले जारी रखते हुए उन्होंने कहा कि कोई भी साजिश उन्हें विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार करने से नहीं रोक सकती है। हालांकि, सूबे के मुख्य सचिव और चुनाव पर्यवेक्षकों की ओर से मिली रिपोर्ट के बाद निर्वाचन आयोग ने साफ कर दिया है कि तृणमूल प्रमुख ममता बनर्जी को चोट लगने के पीछे कोई साजिश नहीं, बल्कि हादसा है।

Edited By: Monika Minal