नयी दिल्ली (पीटीआई)। भारतीय जनता पार्टी ने त्रिपुरा की सत्तारूढ़ पार्टी माकपा पर आरोप लगाया है कि उनके कार्यकर्ता यह अफवाह उड़ा रहे हैं कि वह इस बात का पता लगा लेंगे कि किसने किस पार्टी को वोट दिया है। भाजपा ने इस बावत चुनाव आयोग से संपर्क किया है। गुरुवार को भाजपा ने चुनाव आयोग को ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि पिछले कई चुनावों में माकपा यहां ‘बड़े पैमाने पर हेराफेरी’ और अफवाह फैलाकर मतदाताओं को डराने और हिंसा करने में संलिप्त रहकर’ चुनावी प्रक्रिया को बाधित कर रही थी।

ज्ञापन में कहा गया है कि कथित अफवाह के अनुसार अगर कोई भाजपा को मतदान करता है तो इवीएम मशीन से तेज आवाज आएगी और प्रत्येक पोलिंग बूथ पर कैमरा लगे होंगे जिसके जरिए माकपा के कार्यकर्ता चुनावी प्रक्रिया पर नजर रखने में सक्षम होंगे।

ज्ञापन में भाजपा ने दावा किया है कि इस अफवाह ने राज्य में पकड़ बना ली है। पार्टी ने आरोप लगाया है कि मुख्य चुनाव अधिकारी ने मतदाताओं को वीवीपैट मशीन के बारे में और अन्य चीजों के बारे में शिक्षित करने के लिए कोई अभियान नहीं चलाया है। ज्ञापन में यह भी आरोप लगाया गया है कि गारो हिल्स में उग्रवाद का उभार फिर से हो रहा है। पार्टी ने कहा है कि पुलिस पर्यवेक्षकों और चुनाव अधिकारियों को इन सभी के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।

 

Edited By: Kishor Joshi