तेलंगाना, जेएनएन। शहर की एकमात्र ट्रांसजेंडर उम्मीदवार चंद्रमुखी दो दिन गायब रहने के बाद लौट आई है। बुधवार देर रात वह अपने समुदाय के कुछ लोगों और वकील के साथ बंजारा हिल्स पुलिस स्टेशन पहुंची। चंद्रमुखी ने अपने लापता होने के बारे में पुलिस को जानकारी देने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि वह सारी बातें गुरुवार को कोर्ट के समक्ष बयान करेंगी। बता दें कि चंद्रमुखी तेलंगाना शहर की गोशमहल सीट से बहुजन लेफ्ट फ्रंट के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं। वह मंगलवार को जवाहरनगर स्थित अपने घर से अचानक रहस्यमयी परिस्थितियों में लापता हो गईं थीं। 

जिसके बाद चंद्रमुखी की मां ने हैदराबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की, जिस पर सुनवाई पुलिस उच्च न्यायालय ने पुलिस को गुरुवार तक का समय दिया था, ताकि वे अदालत में चंद्रमुखी को प्रस्तुत कर सकें। चंद्रमुखी के समर्थकों का कहना है कि उनसे दो लोग मिलने आए थे। बाद में अचानक से चंद्रमुखी का फोन भी बंद हो गया। समर्थकों का दावा है कि चंद्रमुखी को अगवा कर लिया गया था। हालांकि, सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस का कहना है कि चंद्रमुखी घर से अकेले निकली हैं। पुलिस ने उनकी तलाश के लिए 10 विशेष टीम गठित की थीं। 

बहुजन लेफ्ट फ्रंट के नेताओं और ट्रांसजेंडर एक्टिविस्ट्स का कहना है कि चंद्रमुखी के गायब होने के पीछे उन्हीं लोगों का हाथ है, जो कि उसके चुनाव लड़ने से राजी नहीं थे। चंद्रमुखी के खिलाफ भाजपा के राजा सिंह और कांग्रेस पार्टी के मुकेश गौड़ चुनाव लड़ रहे हैं।

Edited By: Vikas Jangra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट