जयपुर, जेएनएन। राजस्थान भाजपा में टिकटों को लेकर कार्यकर्ताओं और नेताओ के विरोध प्रदर्शन टिकट वितरण से पहले ही शुरू हो गए है। शुक्रवार को सरकार के एक मंत्री और दो मौजूदा विधायकों के खिलाफ भाजपा मुख्यालय पर कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। इससे पहले कोर कमेटी की बैठकों के दौरान भी विरोध प्रदर्शन सामने आ चुके है।

इस बीच राजस्थ्ज्ञन भाजपा के टिकटों के लिए आखिरी दौर की कवायद जारी है। नेताओं के बीच बैठकों का सिलसिला जारी रहा। अब ये सभी नेता शनिवार को दिल्ली पहुंचेंगे जहां पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के साथ बैठक के बाद रविवार को संसदीय बोर्ड की बैठक होनी है। इस बैठक मे ही पार्टी राजस्थान के उम्मीदवारों के नाम तय करेगी।

राजस्थान में इस बार भाजपा के लिए टिकट वितरण की कवायद आसान नहीं रहने वाली है और इस बात के संकेत लगातार मिल रहे हैं। अभी टिकट वितरण हुआ नहीं है और इससे पहले ही मौजूदा विधायको, मंत्रियों और सम्भावित प्रत्याशियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का सिलसिला शुरू हो चुका है। पार्टी की ओर से सीटवार की गई रायशुमारी के दौरान आधा दर्जन से अधिक मंत्रियों के साथ ही करीब 2 दर्जन विधायकों के खिलाफ नाराजगी सामने आ चुकी है।

वहीं, पार्टी स्तर पर कराए गए तमाम सर्वे के दौरान भी कई विधायकों के खिलाफ कार्यकर्ताओं और जनता की नाराजगी सामने आ चुकी है। शुक्रवार को सरकार के मंत्री हेम सिंह भड़ाना, ब्यावर से विधायक शंकर सिंह रावत, अनूपगढ से विधायक शिमला बावरी के खिलाफ कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन करने भाजपा मुख्यालय पहुंचे। इन लोगों ने पार्टी मुख्यालय में मौजूद प्रदेश अध्यक्ष मदन लाल सैनी और अन्य पदाधिकारियों को अपनी मांग के समर्थन में ज्ञापन भी दिया।

पार्टी मुख्यालय पर मौजूद प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी, चुनाव प्रबंधन समिति के संयोजक गजेन्द्र सिंह शेाखावत व अन्य नेतओं ने कार्यकर्ताओं से बातचीत की । पार्टी सूत्रों का कहना है कि यह स्थिति तो अभी टिकट वितरण से पहले की है। असली खींचतान और विरोध प्रदर्शन टिकट वितरण के बाद सामने आएंगे।

आज पहुंचेंगे नेता दिल्ली-

इस बीच राजस्थान भाजपा के टिकट तय करने के लिए यहां के वरिष्ठ नेता शनिवार को दिल्ली पहुंच जाएंगे। बतया जा रहा है कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित वरिष्ठ नेताओं की पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के साथ बैठक होगी और इसके बाद रविवार को पार्टी के संसदीय बोर्ड की बैठक होगी। इस बैठक में ही पार्टी की पहली सूची के नाम तय किए जाएंगे। राजस्थान में सोमवार 12 नवम्बर से नामांकन की प्रक्रिया शुरू होनी है।

ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि रविवार या अधिकतम सोमवार को पार्टी की पहली सूची जारी कर दी जाएगी। पार्टी प्रत्याशियों के नाम तय करने के लिए शुक्रवार को जयपुर में नेतााअें के बीच बैठको का सिलसिला जारी रहा। मुख्यमंत्री निवास और प्रदेश मुख्यालय पर पार्टी के वरिष्ठ नेताओ के बीच अनौपचारिक बैठकें हुई। पार्टी सूत्रो का कहना है कि आलाकमान के पास जाने से पहले पार्टी ने सभी नामों के पैनलों को अंतिम रूप दे दिया है।

भाजपा नेता ने किया निर्दलीय चुनाव लडने का ऐलान-

पूर्व मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता राधेश्याम गंगानगर ने पार्टी को छोड़े बिना ही चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है। राधेश्याम गंगानगर ने कहा है कि वे जनता की टिकट पर चुनाव लड़ेंगे, हालांकि उन्होंने अभी तक पार्टी छोड़ने की आधिकारिक घोषणा नहीं की है। राधेश्याम गंगानगर ने शुक्रवार को मीडिया के सामने आरोप लगाया कि पार्टी में उनका बहुत शोषण किया गया है। इससे वे मानसिक रूप से काफी परेशान रहे हैं। अपने समर्थकों की राय से निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा करने वाले राधेश्याम का कहना है कि हार जीत कोई मुद्दा नहीं है। जनता की आवाज पर वे फिर चुनाव मैदान में उतरेंगे।  

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप