नई दिल्ली (जेएनएन)। तीनों नगर निगमों के 272 वार्डों के लिए हुए 4605 नामांकन में से 1796 रद हो गए हैं। इनमें निर्दलीय और छोटे दलों के साथ-साथ कुछ नामांकन बडे़ दलों के प्रत्याशियों के भी शामिल हैं। हालांकि इन आंकड़ों में थोड़ा बहुत फेरबदल और हो सकता है, क्योंकि राज्य चुनाव आयोग के अधिकारी विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों के रिटर्निग अधिकारियों से देर रात तक आंकड़े जुटाने में लगे हुए थे।

आयोग से प्राप्त रात 11 बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक, दक्षिण दिल्ली नगर निगम के 104 वार्डों के लिए सर्वाधिक 1853 नामांकन दाखिल हुए थे। यहां रद नामांकन की संख्या भी सर्वाधिक 758 रही, जबकि 1075 नामांकन वैध पाए गए।

यह भी पढ़ें: मोदी मैजिक का असर, MCD चुनाव में बड़ी संख्या में मुस्लिमों ने मांगे टिकट

वहीं, उत्तरी दिल्ली नगर निगम के 104 वार्डों के लिए कुल 1738 नामांकन दाखिल किए थे। इनमें से 1080 नामांकन वैध पाए गए जबकि 658 रद कर दिए गए।

इसी तरह पूर्वी दिल्ली नगर निगम के 64 वार्डों के लिए कुल 1034 नामांकन दाखिल किए थे। इनमें से 654 नामांकन वैध पाए गए जबकि 380 रद कर दिए गए।

MCD चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए क्लिक करें

चुनाव अधिकारियों के मुताबिक, जो नामांकन रद हुए हैं उनके पीछे अनेक कारण हैं। कुछ उम्मीदवारों ने फॉर्म पूरा नहीं भरा तो संलग्न कागजों और अन्य औपचारिकताएं पूरी करने में लापरवाही बरती।

बताया जाता है कि रद नामांकन में कुछ नामांकन भाजपा के उम्मीदवारों के भी हैं तो कुछ जदयू सहित अन्य दलों के। हालांकि ज्यादातर नामांकन निर्दलीय उम्मीदवारों के ही हैं।

यह भी बताया जा रहा है कि ज्यादातर उम्मीदवारों ने सेफ साइड के लिए तीन से पांच नामांकन भरे थे। इसलिए रद नामांकन पत्रों में ऐसे अतिरिक्त नामांकन ही ज्यादा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: MCD polls 2017: लगातार हो रहे सर्वे से बढ़ रहीं कांग्रेसियों की धड़कनें

आयोग के अधिकारियों ने यह भी बताया कि पूरी स्थिति बृहस्पतिवार तक ही स्पष्ट हो पाएगी। अलबत्ता, बृहस्पतिवार से नाम वापस लेने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। नाम शनिवार, 8 अप्रैल तक वापस लिए जा सकेंगे।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस