आइजोल (मिजोरम)। उत्तरपूर्वी राज्य मिजोरम में 28 नवंबर को विधानसभा के लिए वोटिंग होगी। मिजोरम में सभी 40 सीटों के लिए एक चरण में मतदान कराया जाएगा। वोटों की गिनती 11 दिसंबर को होगी। विधानसभा की 40 सीटों के लिए कुल 209 उम्मीदवार मैदान में हैं। इसमें 15 महिलाएं है।

इलेक्शन कमीशन ऑफ़ इंडिया के मुताबिक राज्य में कुल मतदाताओं की संख्या 7. 68 लाख हैं। मिजोरम में पुरुषों के मुक़ाबले महिला मतदाताओं की संख्या अधिक है। राज्य में 3.93 लाख महिला जबकि 3.74 लाख पुरुष मतदाता हैं। मतदान के लिए कुल 1164 मतदान केंद्र बनाये गए हैं। कांग्रेस और मिजोरम नेशनल फ्रंट ने सभी 40 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं। बीजेपी की तरफ से 39 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। मिजोरम नेशनल फ्रंट और बीजेपी NEDA में घटक दल हैं। लेकिन मिज़ोरम में दोनों अपने दम पर चुनावी मैदान में है।

मिजोरम में लाल थनहवला के नेतृत्व में पिछले 10 सालों से कांग्रेस की सरकार है। भारत के उत्तरपूर्वी राज्यों में केवल मिजोरम ही एकमात्र राज्य है जहाँ बीजेपी सत्ता में नहीं हैं। उत्तरपूर्व के अन्य राज्यों में बीजेपी सरकार में शामिल है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह सहित बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्रियों ने उत्तरपूर्व के इस राज्य में बीजेपी के लिए चुनाव प्रचार किया है।

मिजोरम विधानसभा चुनाव प्रमुख उम्मीदवार

लाल थनहवला-मिजोरम के मुख्यमंत्री लाल थनहवला दो सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं। वो चम्फाई दक्षिण और सरछिप विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

जोरमथांगा-मिज़ो नेशनल फ्रंट के प्रमुख ज़ोरमथांगा मिजोरम की राजधानी आइज़ोल पूर्व से चुनाव लड़ रहे हैं।

वनलालजावमा-MNF नेता वनलालज़ावमा मिजोरम विधानसभा में नेता विपक्ष हैं। वनलालज़ावमा मिज़ो नेशनल फ्रंट के कोषाध्यक्ष भी हैं। वो आइज़ोल पश्चिम -3 सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

आर लालजीर्लियाना - आर लालजीर्लियाना मिज़ो नेशनल फ्रंट के टिकट पर तावी विधानसभा से चुनाव लड़ रहे हैं। इसके पहले वो लाल थनहवला सरकार में गृह मंत्री थे। बीते 15 सितम्बर को उन्होंने कांग्रेस से इस्तीफ़ा दे दिया था। 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप