नई दिल्ली [जेएनएन]। निगम चुनाव में मतदान के दौरान खराब हुई ईवीएम से भड़के आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राज्य चुनाव आयोग को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि मतदान के दिन खराब इलेक्ट्रॉनिक वोटिग मशीनों (ईवीएम) की खबरें दिल्ली के हर हिस्से से दिन भर आती रहीं। जिससे साबित होता है कि बार-बार कहने के बाद भी चुनाव आयोग ने अच्छी मशीनों को नहीं लगाया और न ही मशीनों के खराब होने पर उन्हें बदलने के कोई उचित प्रबंध किए थे।

केजरीवाल ने आरोप लगाया कि अव्यवस्था का आलम यह था कि मान्य वोटर पर्चियां साथ होने के बाद भी कई वोटरों को नगर निगम में अपने मताधिकार का प्रयोग नहीं करने दिया गया। केजरीवाल ने ट्विटर पर लिखा कि 'पूरी दिल्ली से ईवीएम में गड़बड़ी की खबरें आ रही हैं, वोटर स्लिप के साथ खड़े लोगों को वोट नहीं करने दिया जा रहा है। चुनाव आयोग क्या कर रहा है?' 

चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने स्वीकार किया कि कुछ जगहों से तकनीकी गड़बड़ी की खबरे आईं , लेकिन उन गड़बड़ियों को दूर कर दिया गया। इससे पहले अपना वोट डालने के बाद केजरीवाल ने दिल्ली के वोटरों से अपील करते हुए कहा कि वे अपने घरों से बाहर निकलें और डेंगू एव चिकनगुनिया मुक्त दिल्ली बनाने के लिए अपने मताधिकार का प्रयोग करें।

यह पूछे जाने पर कि क्या दिल्ली नगर निगम के चुनाव 'आप' सरकार के दो साल के कामकाज पर जनमत-संग्रह है। इस पर केजरीवाल ने कहा हम देखेंगे जब बुधवार को नतीजे आएगे। बता दें कि केजरीवाल ने पहले मांग की थी कि वीवीपैट से लैस ईवीएम से मतदान कराने का इंतजाम किए जाने तक चुनाव टाल दिए जाएं। उनका कहना था कि वीवीपैट से ही निष्पक्ष तरीके से चुनाव हो सकेंगे।

यह भी पढ़ें: MCD Election 2017: जानिए वोट डालने के बाद किस नेता ने क्‍या कहा

इस मशीन से एक पर्ची निकलती है जिसमे उस पार्टी का चुनाव चिन्ह अंकित होता है, जिसे मतदाता ने वोट दिया है। यह पर्ची एक बक्से में गिरती है। कोई मतदाता इसे अपने घर नहीं ले जा सकता। मतदाता वोटर-वेरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) पर्चियों को सात सेकेंड तक देख सकते हैं। 

यह भी पढ़ें: बीमारी के नाम पर केजरीवाल का सियासी 'डंक', भाजपा बोली- धमका रहे हैं अरविंद

Posted By: Amit Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस