गढ़चिरौली, प्रेट्र। कांग्रेस पर रोष प्रकट करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उसके नेता राहुल गांधी से पूछा है कि पिछले 70 सालों में उनके परिवार की चार पीढि़यों ने आदिवासियों के लिए क्या किया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगले पांच साल में यह क्षेत्र नक्सलवाद से पूरी तरह से मुक्त हो जाएगा। भाजपा प्रमुख अमित शाह ने शुक्रवार को गढ़चिरौली जिले के अहेरी में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र और राज्य में पिछली कांग्रेस और राकांपा सरकारों के मुकाबले मोदी सरकार ने आदिवासियों के लिए अधिक काम किया है।

केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस और राकांपा पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछली सरकारों ने अन्य पिछड़ा आयोग को संवैधानिक दर्जा नहीं दिया था। यह लक्ष्य भी आखिरकार मोदी ने ही पूरा किया। उन्होंने कहा कि मैं राहुल बाबा (गांधी) से पूछना चाहता हूं कि आपकी चार पीढि़यों ने देश पर 70 साल शासन किया है। आपने आदिवासियों के लिए क्या किया? जनता ने मोदी सरकार को केवल पांच साल दिए और उन्होंने इसी अवधि में इस समुदाय के लिए कुछ काम किए हैं। उन्होंने भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र और राज्य की सरकारों के कामकाज का हवाला देते हुए कहा कि अकेले गढ़चिरौली में ही 1.30 शौचालय बनवाए गए हैं।

अकेले आदिवासी परिवारों को ही यहां 48 हजार गैस सिलेंडर और 48 हजार बिजली कनेक्शन उपलब्ध कराए गए हैं। इसके अलावा, गरीब आदिवासी लोगों को आठ हजार मकान बनाकर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि वह राकांपा अध्यक्ष शरद राव (पवार) और राहुल बाबा से महाराष्ट्र में अपने कामकाज का हिसाब मांग रहे हैं। आखिर उन्होंने विदर्भ और अहेरी के लोगों के लिए क्या किया है? क्या उन्हें इसका हिसाब नहीं देना चाहिए? उन्होंने 78 साल के पवार को चुनौती दी कि वह भाजयुमो के अध्यक्ष से सरकार के कामकाज को लेकर बहस कर सकते हैं। अगर वह चर्चा को राजी हों तो हमारी पांच साल की सरकार का कामकाज उनके पचास साल की सरकारों के कामकाज से बेहतर निकलेगा। उन्होंने कहा कि 13वें वित्त आयोग के तहत कांग्रेस-राकांपा की पिछली सरकार ने महाराष्ट्र को 1.15 लाख करोड़ रुपये दिए थे। जबकि दूसरी ओर मोदी सरकार ने 14वें वित्त आयोग के तहत 4.38 लाख करोड़ रुपये दिए हैं।

नक्सली विकास के विरोधी

गढ़चिरौली नक्सल प्रभावित जिला होने के चलते शाह ने कहा कि यह प्रचार किया गया है कि विकास की कमी के चलते ही नक्सलवाद बढ़ता है। जबकि असलियत में माओवादी विकास का विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में बिजली, अच्छी सड़कें, रेल सेवाएं और अन्य सुविधाएं देना चाहती है। लेकिन नक्सलवादी ऐसा नहीं होने देना चाहते हैं। लेकिन अब किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं है। मोदी जी ने पिछले पांच सालों में नक्सलवाद की कमर तोड़ दी है। हम इस पूरे इलाके से नक्सलवाद को जड़ से मिटा देंगे।

अनुच्छेद 370 से आतंक बढ़ा

शाह ने जोर देकर कहा कि कांग्रेस ने अनुच्छेद 370 नहीं हटाया जिसके चलते आतंकवाद को बढ़ावा मिला। इसी के चलते ही जम्मू और कश्मीर में 40 हजार से अधिक लोग मारे गए। कांग्रेस सात दशकों से केवल वोट बैंक की राजनीति करती रही है। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को खत्म करने की हिम्मत दिखाई है। 

 

Posted By: Shashank Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप