सिलीगुड़ी, जेएनएन। भाजपा केंद्र की सत्ता लौटने पर जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटा देगी और देशभर में नागरिकों के लिए एनआरसी लागू करेगी। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने दार्जिलिंग से पार्टी प्रत्याशी राजू विष्ट के समर्थन में गुरुवार को कलिम्पोंग में आयोजित चुनावी सभा में यह दावा किया। उन्होंने एयर स्ट्राइक पर सवाल उठाने पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की आलोचना करते हुए कहा-' ममता और विपक्षी नेता एयर स्ट्राइक से नाखुश हैं।

वे सिर्फ अल्पसंख्यक समुदाय को खुश करने के लिए ऐसा कर रहे हैं। एयर स्ट्राइक से दो जगह मातम था- एक पाकिस्तान और दूसरा ममता बनर्जी के कार्यालय में।' शाह ने ममता से कश्मीर में अलग प्रधानमंत्री की मांग पर अपना रूख स्पष्ट करने को कहा। शाह ने कहा-'हम ममता की तरह घुसपैठियों का वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल नहीं करते। हमारे लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सर्वोपरि है। हम सुनिश्चित करेंगे कि देश के हरेक हिंदू एवं बौद्ध शरणार्थी को नागरिकता मिले।' 

ममता बनर्जी द्वारा प्रस्तावित महागठबंधन पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा-'मुझे हैरत होती है कि कांग्रेस और माकपा क्यों तृणमूल की आलोचना कर रही हैं जबकि वह उनके सहयोगी हैं।' शाह ने राज्य में 42 में से 23 सीटों पर जीत दर्ज करने का लक्ष्य रखा है। २०१४ आम चुनाव में भाजपा को बंगाल में सिर्फ दो सीटें ही मिली थीं। वहीं रायगंज की चुनावी सभा में बांग्लादेशी घुसपैठियों को 'दीमक' बताते हुए शाह ने कहा कि उनकी पार्टी सत्ता में आने पर घुसपैठियों को देश से बाहर निकालेगी।

भाजपा अध्यक्ष ने दावा किया कि तृणमूल कांग्रेस तुष्टिकरण, माफियागीरी और चिटफंड घोटालों में लगी है। घुसपैठिये दीमक की तरह हैं। वे अनाज खा रहे हैं, जो गरीबों को जाना चाहिए। वे हमारी नौकरियां छीन रहे हैं। 'टीएमसी' (तृणमूल कांग्रेस) के 'टी' का मतलब 'तुष्टीकरण', 'एम' का मतलब 'माफिया' और 'सी' का मतलब चिटफंड है। सत्ता में आने के बाद भाजपा इन दीमकों का पता लगाकर उन्हें देश से बाहर निकालेगी। शाह ने आगे कहा-'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुरू से ही गोरखाओं के साथ हैं। ममता बनर्जी ने पहाड़ की शांति को भंग करने के साथ ही उसे तबाह कर दिया है। बंगाल की जनता अब परिवर्तन के लिए तैयार है।

 

Posted By: Babita