थ्रिशूर, एएनआइ। केरल विधानसभा चुनाव के चलते कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा इन दिनों राज्य के दौरे पर हैं। प्रियंका केरल में चुनाव-प्रचार में जुटी हैं और राज्य की पिनरई सरकार लगातार उनके निशान पर है। यहां बुधवार को थ्रिशूर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा, 'कांग्रेस सीपीएम जैसी कैडर आधारित पार्टी नहीं है। यह एक जन-आधारित पार्टी है। शुरुआत से ही, इसकी राजनीति लोगों के बारे में रही है। 1921 में कांग्रेस पार्टी ने ही केरल को एकजुट होने का आह्वान किया था।'

इससे पहले मंगलवार को कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने पिनराई विजयन के नेतृत्व वाली केरल की लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (एलडीएफ) सरकार को जालसाजी और घोटालों की सरकार करार दिया। उन्होंने कहा कि एलडीएफ सरकार कम्युनिस्ट घोषणा पत्र के बजाय केंद्र की मोदी सरकार की तरह कारपोरेट घोषणा पत्र का अनुसरण कर रही थी। प्रियंका ने उत्तर प्रदेश में रेल यात्रा के दौरान केरल स्थित एक समूह से जुड़ी ननों के कथित उत्पीड़न के लिए भाजपा और आरएसएस की आलोचना की और दावा किया कि चुनावी समय होने की वजह से ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने घटना की निंदा की। कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूडीएफ को वोट देने की अपील करते हुए प्रियंका ने कहा, 'केरल में आप जो करेंगे वो बाकी देश को राह दिखाएगा। यह बड़ी जिम्मेदारी है और मुझे विश्वास है कि आप इसे पूरी तरह निभाएंगे।'

मंदिर में पूजा अर्चना

अलपुझा, कोल्लम और तिरुअनंतपुरम जिलों में कई सभाओं को संबोधित करने के बाद प्रियंका ने मंगलवार शाम प्रसिद्ध आट्टुकाल देवी भगवती मंदिर में पूजा अर्चना की। इस दौरान मंदिर में काफी लोग उपस्थित थे।

Edited By: Neel Rajput