तिरुवनंतपुरम, एएनआइ। केरल के तिरुवनंतपुरम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (LDF) और यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (UDf) पर जमकर निशाना साधा। इस दौरान उन्होंने कहा कि एलडीएफ और यूडीएफ दोनों केरल में फ्रैंडली मैच खेल रहे हैं। जीत चाहे एलडीएफ की हो या यूडीएफ की,अंत में हार केरल की जनता की हो रही है। जनता महसूस करती है कि राज्य को नए राजनीतिक पार्टी की जरूरत है। अगर नया राजनीतिक विकल्प कोई यहां दे सकता है तो वह भाजपा है। 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि वे  एलडीएफ और यूडीएफ से पूछना चाहता हैं कि केरल में 100% साक्षरता दर होने के बावजूद भी यह दूसरे राज्यों के मुकाबले में पीछे क्यों है? वे मानता हैं कि आजादी के 7 दशकों के बाद भी यह राज्य एलडीएफ और यूडीएफ के चंगुल से बाहर नहीं आ पाया है। हम केंद्र की नीतियों को केरल में प्रभावी रूप से लागू करेंगे। गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों को हर साल 6 गैस सिलेंडर देंगे। भाजपा केरल में हिंसा और भ्रष्टाचार को खत्म करेगी। भाजपा जाति, धर्म के नाम पर राजनीति नहीं करती है।

 केरल में भाजपा राजनीतिक हिंसा को समाप्त कर देगी

सोना तस्करी को लेकर भी राजनाथ सिंह ने केरल सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि केरल मंत्रिमंडल ने सोने की तस्करी की जांच करने वाली केंद्रीय एजेंसियों के खिलाफ न्यायिक जांच का निर्णय लिया है। इसका मतलब है कि केरल सरकार संविधान के संघीय ढांचे को चुनौती दे रही है। यदि हम यहां सरकार बनाते हैं,तो हम सबरीमाला की परंपराओं और प्रथाओं के संरक्षण के लिए कानून बनाएंगे। केरल में भाजपा राजनीतिक हिंसा को समाप्त कर देगी। एलडीएफ और यूडीएफ ने आम जनता के बीच अपनी विश्वसनीयता खो दी है। उनके कथनी और करनी में बहुत अंतर है। हम केरल में बहुमत प्राप्त करने की कोशिश कर रहे हैं। भविष्य में जो भी होगा देखा जाएगा।

Edited By: Tanisk