रांची, राज्य ब्यूरो। Rahul Gandhi Rally in Jharkhand झारखंड विधानसभा चुनाव से शुरुआत में दूर-दूर रहे कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के तेवर अब आक्रामक हो रहे हैं। पहले चरण में प्रचार से दूर रहे राहुल गांधी दूसरे चरण और तीसरे चरण के उम्मीदवारों के लिए तीन सभाएं कर चुके हैं। दो जनसभाएं गुरुवार को भी प्रस्तावित हैं और इससे आगे भी उनकी सक्रियता के अनुमान लगाए जा रहे हैं। हरियाणा विधानसभा चुनाव से दूर रहे राहुल गांधी अब झारखंड में वैसा हश्र नहीं चाहते हैं।

कांग्रेस नेताओं के अनुसार राहुल गांधी ने हरियाणा में अधिक समय दिया होता, तो परिणाम कुछ और हो सकता था। कुछ इसी तरह का माहौल झारखंड में भी तैयार हो रहा है। यही कारण है कि राहुल गांधी झारखंड में चुनाव प्रचार पर पूरी तरह फोकस कर रहे हैं। चुनाव परिणाम को लेकर कोई रिस्क नहीं लेते हुए राहुल ने अपनी टीम भी झारखंड में उतार दी है। छत्तीसगढ़ से सीनियर नेताओं के बाद मध्य प्रदेश की टीम भी झारखंड में पहुंच चुकी है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया लगातार कैंप कर रहे हैं और उन्होंने वैसे तमाम सीटों पर कांग्रेस प्रत्याशियों का प्रचार किया है, जहां संभावनाएं प्रबल दिख रही हैं। इसके अलावा, छत्तीसगढ़ में धान के समर्थन मूल्य को लेकर मिली सफलता को झारखंड में भुनाने की कोशिश की जा रही है। फिलहाल 18 सौ रुपये प्रति क्विंटल की दर से धान बेच रहे किसानों को छत्तीसगढ़ की तर्ज पर 2500 रुपये प्रति क्विंटल देने की बात कही जा रही है।

इतना ही नहीं, तमाम राजनीतिक और सामाजिक समीकरणों को झारखंड के मैदान में कांग्रेस ने उतार दिया है, जिनकी बदौलत छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में सफलता मिली। झारखंड में छत्तीसगढ़ के सीएम के अलावा ताम्रध्वज साहू आदि नेता झारखंड में नियमित तौर पर सक्रिय हैं। प्रदेश कांग्रेस के सह प्रभारी और मध्य प्रदेश के मंत्री उमंग सिंघार लगभग एक महीने से झारखंड में प्रचार अभियान का हिस्सा बने हुए हैं।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस