रांची, राज्य ब्यूरो। गुमला में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वन उत्पादों के लिए आदिवासी और वनवासी समुदाय को दी जा रही सुविधाओं का खासतौर से जिक्र किया। कहा कि 49 वन उत्पादों के एवज में मूल्य निर्धारित कर दिया गया है जिसका लाभ आदिवासी भाइयों को मिलेगा। इन उत्पादों को रखने के लिए फिलहाल 40 केंद्र झारखंड में बन रहे हैं जिससे संख्या 160 होगी।

वन उत्पादों को रखने के लिए प्रशिक्षण की बात भी उन्होंने कही और लोगों को याद दिलाया कि वनाधिकार के तहत राज्य में अब तक 7000 पट्टे बांटे जा चुके हैं। केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा की तारीफ करते हुए एकलव्य स्कूलों का प्रधानमंत्री ने खासतौर पर जिक्र किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा ने हमेशा आदिवासियों की चिंता की है।

अटल जी ने अलग झारखंड राज्य का गठन कराया और जनजातीय मामलों का मंत्रालय पहली बार उनके शासन में बना। कडिय़ा मुंडा लोकसभा के डिप्टी स्पीकर बने तो सिमोन उरांव एवं अशोक भगत जैसे विभूतियों को पद्म सम्मान से हमारी सरकार ने विभूषित किया।

जल्द पूरा होगा उत्तर कोयल जलाशय परियोजना का काम

पलामू में प्रधानमंत्री ने उत्तर कोयल जलाशय परियोजना का भी जिक्र किया। कहा, यह योजना 40-42 साल तक अटकी रही। तब जो दल सत्ता में थे उन्होंने कभी गंभीर कोशिश नहीं की। बरसों तक लाखों किसान परेशान रहे। उनके साथियों ने चिंता नहीं की। किसान की क्या समस्या होती है भाजपा समझती है। विश्वास दिलाया कि सरकार की वापसी के बाद इस परियोजना का काम जल्द पूरा किया जाएगा।

जल, जंगल, जमीन की सुरक्षा भाजपा दीवार बनकर करेगी

पलामू में प्रधानमंत्री ने कहा कि विरोधी हताशा में कुछ भी कहें आपके जल, जंगल व जमीन के हितों की सुरक्षा के लिए भाजपा दीवार बनकर खड़ी रहेगी। राजा मेदिनी राय ने जिस प्रकार प्रजा का हितकारी शासन चलाया वैसा ही शासन देने का प्रयास कर रहे हैं। आपने ऐसी सरकारें भी देखीं जिनके पीछे चक्कर लगाने पड़ते थे।

अब हमारी सरकार आपके पास आती है। आज हम तकनीक के माध्यम से देश के लोगों तक सीधे पहुंच रहे हैं। पक्का आवास दिला रहे हैं। भगवान बिरसा मुंडा के हिंदुस्तान में एक भी गरीब का घर न हो ऐसा हम होने नहीं देंगे।

बीते पांच सालों में स्थितियां बदलीं, स्टील प्लांट भी लगेगा 

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले पांच वर्षों में स्थितियां बदलने में काफी सफलता पाई है। पांच वर्ष में पहली बार रघुवर दास के रूप में एक ही मुख्यमंत्री रहे। भाजपा के ईमानदार प्रयास से सड़क, बिजली पहुंच रही है। रोजगार के नए साधन तैयार हो रहे हैं। रोजगार मिल रहा है। यहां (पलामू प्रमंडल) में एक नया स्टील प्लांट भी जल्द तैयार होने वाला है।

बॉक्साइट का बड़ा हिस्सा यहां के विकास पर डीएमएफटी के माध्यम से लग रहा है। पांच हजार करोड़ रुपये की राशि से आदिवासी क्षेत्रों में स्कूल-अस्पताल बनाने में मदद मिल रही है। जंगल में रहने वाले साथियों के क्लेम तेजी से सेटल हो रहे हैं। एक लाख क्लेम सेटल हो गए हैं, इनमें 60 हजार का तो निपटारा भी हो गया।

पलामू से जुड़ाव का किया जिक्र

पलामू में संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री ने पलामू से अपने और भाजपा के जुड़ाव का जिक्र भी किया। कहा, कुछ माह पूर्व लोकसभा में यहां की जनता ने भारी समर्थन दिया था। आज भी यहां चारो ओर जो उत्साह और उमंग है उसने इस बार के विधानसभा चुनाव का नतीजा भी स्पष्ट कर दिया है। कहा, भाजपा की अगुवाई में स्थिर और मजबूत सरकार का दोबारा बनना जरूरी है।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप