रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 - झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी का कुनबा पूरी तरह बिखर चुका है। अंतिम समय तक बाबूलाल के साथ रहे लातेहार के विधायक प्रकाश राम ने भी उनका साथ छोड़ दिया है। शनिवार को प्रकाश राम ने अपने हजारों समर्थकों के साथ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की विधिवत सदस्यता ग्रहण की। विधानसभा चुनाव के ऐन पूर्व प्रकाश राम के भाजपा में शामिल होने को बाबूलाल के लिए बड़े झटके के तौर पर लिया जा रहा है।

लातेहार के मनिका में शनिवार को आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री रघुवर दास की उपस्थिति में प्रकाश राम ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। पिछले विधानसभा चुनाव में बाबूलाल मरांडी के नेतृत्व में झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) के आठ विधायक चुनाव जीतकर आए थे। इनमें छह ने दलबदल कर भाजपा का दामन थाम लिया था। बाबूलाल ने दलबदल मामले में लंबी लड़ाई लड़ी, लेकिन अंतत: फैसला उनके हक में नहीं आया।

शेष बचे दो विधायकों में अपने तेज तर्रार विधायक प्रदीप यादव से बाबूलाल ने खुद मुक्ति पा ली है। प्रदीप यादव हाल ही में जेल से जमानत पर रिहा हुए हैं। एक आखिरी बचे विधायक प्रकाश राम भी अब बाबूलाल का साथ छोड़ रहे हैं। हालांकि, बाबूलाल विधानसभा चुनाव से पूर्व अपने बिखरे कुनबे को एक बार फिर समेट जनाधार बटोरने की कोशिशों में जुटे हैं। झाविमो के हालिया सम्मेलन में उन्होंने भीड़ जुटाने के लिए पूरा दम लगाया था।

भाजपा जिला इकाई में रोष, लेकिन सबने साधी चुप्पी

झाविमो विधायक प्रकाश राम के भाजपा में शामिल होने से पार्टी की लातेहार की जिला इकाई में खासा रोष है, लेकिन कोई खुलकर इस बारे में बात नहीं कर रहा है। जिला इकाई की ओर से बुझे मन से निमंत्रण पत्र बांटे गए। वजह भी स्पष्ट है, आदेश ऊपर से आया है।

पिछले चुनाव में लातेहार से भाजपा के पूर्व सांसद ब्रजमोहन राम चुनाव लड़े थे। जाहिर है इस बार भी वे दावेदार हैं। वहीं, पूर्व मंत्री बैद्यनाथ राम भी यहीं से आते हैं। इसके अलावा कामेश्वर भोक्ता, संतोष पासवान समेत भाजपा के आधा दर्जन नेता लातेहार से अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं। प्रकाश राम के भाजपा में शामिल होने से सभी को बड़ा झटका लगेगा।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप