धनवार, जेएनएन। Jharkhand Legislative Assembly Election 2019 के तीसरे चरण में गिरिडीह जिले के Dhanwar Legislative Assembly constituency क्षेत्र में गुरुवार को मतदान हुआ। मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ। तीन बजे तक मतदान का समय निर्धारित था। हालांकि कई मतदान केंद्रों पर तीन बजे के बाद भी मतदाताओं की लाइन लगी हुई थी। लाइन खत्म होने तक मतदान कराया गया। धनवार विधानसभा क्षेत्र में 59.86 फीसद मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया।

नक्सल प्रभावित धनवार विधानसभा क्षेत्र के 424 मतदान केंद्रों पर सुबह 7 बजे शुरू हुआ। मतदान शुरू होते ही मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की कतार लग गई। ठंड की परवाह न कर मतदान केंद्रों पर मतदाता अपने-अपने घरों से निकल अपना जनप्रतिनिधि चुनने के लिए पहुंच गए।

गिरिडीह जिले के तहत आने वाले धनवार विधानसभा क्षेत्र में कुल 14 प्रत्याशी चुनाव मैदान में खड़े हैं। इनमें सबसे बड़ा नाम झाविमो प्रमुख पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडीका है।  उनकी प्रतिष्ठा दांव पर है। मरांडी के अलावा जो बड़े चेहरे हैं उनमें वर्तमान विधायक भाकपा माले के राजकुमार यादव, पूर्व आइजी भाजपा प्रत्याशी लक्ष्मण प्रसाद सिंह और झामुमो के निजामुद्दीन अंसारी शामिल हैं।

नाै बजे तक 7.57 फीसद मतदानः धनवार विधानसभा क्षेत्र में मतदान की गति धीमी चल रही है। नाै बजे तक 7.57 फीसद लोगों ने ही मतदान किए। पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने धनवार विधानसभा क्षेत्र के कोदईबांक स्थित मतदान केंद्र पर अपने मताधिकार का प्रयोग किया। वर्तमान विधायक और भाकपा माले प्रत्याशी राजकुमार यादव ने विषनीतिकर मतदान केंद्र पर मताधिकार का प्रयोग किया।

11 बजे तक क 29.09 फीसद मतदानः पहले दो घंटे के मुकाबले 9 से 11 बजे के बीच धनवार में तेजी से मतदान दर्ज किया गया। 11 बजे तक 29. 09 फीसद मतदाता मताधिकार का प्रयोग कर चुके थे।

1 बजे तक 48.64 फीसद मतदानः धनवार विधानसभा क्षेत्र में मतदाताओं में खासा उत्साह नहीं देखा जा रहा है। एक बजे तक पचास फीसद का भी आकंड़ा नहीं पार कर पाया। 1 बजे तक 48.64 फीसद मतदाताओं ने मतदान किय।

3 बजे के बाद भी मतदानः धनवार विधानसभा क्षेत्र में कुल 3 लाख, 07 हजार 529 मतदाता हैं। चुनाव आयोग के आंकड़ों के अनुसार 3 बजे तक 59.86 फीसद मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया। हालांकि फाइनल आंकड़ा आने के बाद एक-दो प्रतिशत आगे-पीछे हो सकता है। मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा। नक्सल प्रभावित क्षेत्र होने के बावजूद कहीं से भी हिंसा की खबर नहीं है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस